एम्स ऋषिकेश में एनाटाॅमिकल सोसायटी आफॅ इंडिया के 66वें राष्ट्रीय सम्मेलन का शुभारम्भ

66th National Conference of Anatomical Society of India in AIIMS Rishikesh

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सोमवार को एम्स ऋषिकेश में एनाटाॅमिकल सोसायटी आफॅ इंडिया के 66वें राष्ट्रीय सम्मेलन का दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने ‘‘नेटकाॅम-66’’ की पुस्तिका का विमोचन भी किया। एनाटाॅमिकल सोसायटी आॅफ इंडिया द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में सराहनीय कार्य करने वालो को सम्मानित भी किया गया।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि एम्स में आयोजित इस सम्मेलन में देश के विभिन्न हिस्सों व विदेश से आए एनाटाॅमी के विशेषज्ञ अपने अनुभवों को एक-दूसरे के साथ साझा करेंगे। जो आने वाले समय में चिकित्सा सेवाओं की बेहतरी के लिए मजबूत आयाम बनेगा। जो छात्र मेडिकल की पढ़ाई कर रहे हैं, उनको इन विशेषज्ञों से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। उन्होंने आशा व्यक्त की कि इस सम्मेलन से भावी चिकित्सकों को लाभ मिलेगा। एनाॅटोमी विभाग एम्स ऋषिकेश में चिकित्सा से सम्बन्धित विभिन्न विषयों पर व्याख्यान दिये जा रहे हैं। यह प्रसन्नता का विषय है कि इस सम्मेलन में चिकित्सा से सम्बन्धित विभिन्न विषयों पर 400 से अधिक शोध पत्र प्रस्तुत किये जा रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः ITBP टिहरी झील के पास खोलेगा साहसिक खेल संस्थान ,पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि एम्स ऋषिकेश मे बेहतर चिकित्सा सुविधाओं के साथ चिकित्सा से सम्बंधित अनेक कोर्स संचालित किये जा रहे हैं। एम्स ऋषिकेश तेजी से प्रगति कर रहा है। जिसके परिणामस्वरूप एम्स दिल्ली पर 30 प्रतिशत का दबाव कम हुआ है। आज एम्स में मरीजों के लिए 900 बेड की उपलब्धता है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि एम्स से प्रशिक्षण लेकर यहां के छात्र देश भर में जाकर एम्स का नाम रोशन करेंगे।इस अवसर पर विधायक खजान दास, एम्स के निदेशक प्रो. रविकान्त, प्रो सुरेखा किशोर, प्रो. विजेन्द्र सिंह, प्रो. सुरजीत घटक, प्रो. जी.एस. लोंगिया आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *