देहरादून में बड़े सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, ऑनलाइन चलता था पूरा धंधा,तीन गिरफ्तार

Big Sex Racket Busted In Dehradun, Online Walked Full Business, Three Arrested

राजधानी देहरादून के कोतवाली क्षेत्र स्थित होटल से अंतरराज्यीय सेक्स रैकेट का धंधा चलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए पुलिस ने तीन युवकों को मौके से गिरफ्तार कर लिया। होटल से तीन युवतियां भी मुक्त कराई गईं। पुलिस ने आरोपित युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पुलिस के अनुसार एसटीएफ को शहर के लक्खीबाग इलाके में एक होटल में सेक्स रैकेट से जुड़े दलालों के ठहरने की सूचना मिली थी। इस आधार पर एसटीएफ और कोतवाली पुलिस ने शनिवार शाम होटल में छापा मारा। इस दौरान होटल के कमरों में ठहरे तीन युवक और उनके पास से तीन युवतियां बरामद की गईं।पूछताछ में सामने आया कि यह लोग चार सितंबर से होटल में ठहरे हुए हैं और सोशल मीडिया के जरिये सेक्स रैकेट चला रहे हैं। पुलिस ने तीनों के मोबाइल फोन को कब्जे में लेने के साथ होटल के कमरे की तलाशी ली और रिसेप्शन पर दी गई आइडी को जब्त कर लिया। लक्खीबाग चौकी इंचार्ज प्रदीप रावत ने बताया कि आरोपित युवकों की पहचान नासिर पुत्र अली अहमद कुतुबशेर, सहारनपुर, राहुल पुत्र गोकुल प्रसाद निवासी कांवली रोड, देहरादून व मनोज पुत्र शंकर निवासी घंटाघर, गाजियाबाद के रूप में हुई है। तीनों युवतियां दिल्ली की रहने वाली हैं, जिन्हें परिजनों को बुलाकर उनके सुपुर्द किया जाएगा। मामले में तीनों युवकों के खिलाफ अनैतिक देह व्यापार अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

यह भी पढ़ेंः देंखे वीडियोः उत्तराखंड़ मानव तस्करी का गढ़ ,देश में हर 8 मिनट में एक बच्चा लापता

बताया जा रहा है कि पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर तीनों से पूछताछ की तो बताया कि वह ग्राहकों की ऑनलाइन बुकिंग के जरिये सेक्स रैकेट का धंधा करते हैं। प्रति बुकिंग 10 से 15 हजार रुपये में की जाती थी।बुकिंग होने पर दिल्ली सहित अन्य राज्यों से युवतियों को बुलाकर उन्हें ग्राहकों के पास भेजते थे। आरोपियों के पास ऑनलाइन बुकिंग से जुड़ा रिकार्ड, मोबाइल फोन और अन्य दस्तावेज बरामद हुए हैं।पुलिस के मुताबिक तीनों आरोपी 11 सितंबर से शहर के इस होटल में ठहरे हुए थे। तीनों युवक होटल में खुद को मार्केटिंग कंपनी के प्रतिनिधि बताकर ठहरे थे। इस वजह से किसी को शक नहीं हो रहा था। सोशल मीडिया के जरिये ग्राहक मिलने पर लड़कियों को उनके बताए ठिकाने पर पहुंचा दिया जाता था। इसके चलते होटल कर्मियों को भी शक नहीं हुआ। पुलिस के अनुसार यह गिरोह पहले भी दून आ चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *