मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने बजट को संतुलित, समावेशी और विकासपरक बताया

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने बजट को संतुलित, समावेशी और विकासपरक बताया। उन्होंने कहा कि यह बजट, मजबूत देश के लिए मजबूत नागरिक की संकल्पना को दर्शाता है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को संतुलित बजट पेश करने पर बधाई देते कहा कि बजट में आमजन के कल्याण की योजनाओं के साथ-साथ देश में इंफ्रास्ट्रक्चर की मजबूती और उद्योगों के विकास पर जोर दिया है। पांच साल में बुनियादी सुविधाओं पर 100 लाख करोड़ खर्च करने का लक्ष्य रखा गया है।

उन्होंने कहा कि बजट में गांव, गरीब और किसान के कल्याण पर खास फोकस है। हर घर शौचालय व हर व्यक्ति को घर के बाद अब हर घर नल का लक्ष्य रखा गया है। राज्य में हजारों परिवारों को इसका फायदा मिलेगा। 45 लाख रुपये तक के घर पर ब्याज में 3.5 लाख रुपये की छूट से मध्यम वर्ग को राहत मिलेगी। त्रिवेंद्र ने कहा कि यह टीम इंडिया का बजट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास’ के संकल्प को पूरा करने वाला है। किसानों, मजदूरों, महिलाओं, युवाओं, कारीगरों व छोटे उद्यमियों सभी का ध्यान इसमें रखा गया है। इसमें ‘मजबूत देश के लिए मजबूत नागरिक’ पर विशेष बल दिया गया है।

रोजगार सृजन के लिए निवेश को प्रोत्साहित किया गया है। उन्होंने कहा, देश में 17 आईकानिक टूरिस्ट डेस्टीनेशन विकसित किए जाएंगे। इससे निश्चित रूप राज्य के पर्यटन को मजबूती मिलेगी। आम आदमी के साथ ही उद्योगों को बढ़ाने और इंफ्रास्ट्रक्चर पर खास जोर दिया है। नए औद्योगिक कोरिडोर बनाने का लक्ष्य, उड़ान से छोटे शहरों को हवाई सफर से जोड़ा है। वन नेशन वन ग्रिड व इलेक्ट्रिक वाहनों पर टैक्स छूट स्वागत योग्य है।  सीएम त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि पीएम कर्मयोगी मानधन योजना से छोटे दुकानदारों को पेंशन का फायदा मिलेगा।
उन्होंने कहा कि एमएसएमई के लिए अलग पोर्टल बनाया गया है, छोटे मंझोले उद्योगों के लिए 59 मिनट में लोन पास की व्यवस्था की जा रही है। राष्ट्रीय रिसर्च फाउंडेशन बनाने से क्वालिटी रिसर्च को बढ़ावा मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बांस, शहद और खादी पर आधारित 100 नए क्लस्टर बनाए जा रहे हैं। जीरो बजट फार्मिंग और अन्नदाता को ऊर्जादाता बनाने की पहल खासतौर पर उल्लेखनीय है। 10 हजार नए फार्मर-प्रोड्यूसर संगठन बनाए जाएंगे। एग्रो रूरल इंडस्ट्री सेक्टर में 75 हजार स्किल्ड एंटरप्रन्योर्स तैयार होंगे। नारी तू नारायणी के भाव को चरितार्थ करते हुए मुद्रा योजना से प्रत्येक महिला को एक लाख तक का लोन का प्रावधान किया गया है। वहीं, महिला एसएचजी को जनधन अकाउंट से पांच हजार रुपये तक ओवरड्राफ्ट की सुविधा दी है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट का कहना है कि यह भारत की आत्मा का बजट है। इसमें गरीब, किसान, नौजवान, महिला और व्यापारी सभी का ख्याल रखा है। पिछले बजट में मोदी सरकार ने जिस तरह से सभी घरों को बिजली और गैस कनेक्शन देने का संकल्प लिया था तो इस बजट में हर घर में पानी देने का संकल्प लिया है। इससे साफ जाहिर होता है कि अभी भी देश में बुनियादी समस्याएं दूर नहीं हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *