करोड़ों के किट्टी प्रकरण में दंपति गिरफ्तार

करोड़ों की ठगी के मामले में किट्टी संचालक दंपति को दो किशोरियों समेत पुणे महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया गया है। दंपति के पकड़े जाने की सूचना पर महिलाओं ने शहर कोतवाली और कचहरी परिसर में जमकर हंगामा किया। 28 अप्रैल 2019 को नीलम कपूर पत्नी ज्योति कपूर निवासी साकेत कॉलोनी राजपुर रोड ने चौकी धारा में किट्टी संचालिका भावना शर्मा, पति अजय शर्मा और दो बेटियों के खिलाफ करोड़ों की ठगी की धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया था।

इस खबर को पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए

पूर्व संगठन मंत्री प्रदीप जोशी पर लगे आरोपों की तह तक जाएगी भाजपा  https://www.uttaravani.com/bjp-minister-pradeep-joshi/

आरोप था कि भावना शर्मा वर्ष 2016 से ओम साईं राम के नाम से दून में कई किट्टियों का आयोजन कर रही थी और 24 अप्रैल को काफी शहरवासियों के रुपये लेकर फरार हो गयी है। आरोप है कि भावना शर्मा एवं उसके परिवार ने लोगों का करीब 1 करोड़ रुपये से अधिक धोखाधड़ी से हड़प लिया है।

इसी क्रम में 9 जुलाई को जानकारी मिली कि उक्त सभी पुणे महाराष्ट्र में अपने किसी रिश्तेदार के यहां छुपे हुए हैं। इस सूचना एसआई दीपक धारीवाल के नेतृत्व में टीम ने 11 जुलाई को उक्त सभी को पुणे महाराष्ट्र से गिरफ्तार कर लिया। इनकी दोनों बेटियां नाबालिग हैं।

सभी को लेकर पुलिस दून पहुंची थी। इसकी जानकारी मिलने पर शुक्रवार की सुबह इंदू ठाकुर, सराज तलवार, गंगा डाबराल, किरण नौटियाल, विभा, मालती, सोनिया, नीलम, अन्नू, अर्चना आदि सैकड़ों महिलाओं ने पल्टन बाजार कोतवाली पहुंचकर जमकर हंगामा किया।

इस खबर को पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए

पूर्व संगठन मंत्री प्रदीप जोशी पर लगे आरोपों की तह तक जाएगी भाजपा  https://www.uttaravani.com/bjp-minister-pradeep-joshi/

महिलाओं ने दंपति को उन्हे सौंपने की मांग की। महिलाओं ने किशोरियों में एक को बालिग बताकर उन्हें छोड़ने पर पुलिस पर आरोप लगाए। पुलिस ने किसी तरह महिलाओं को समझाकर शांत कराया। इस बीच पुलिस सुरक्षा में दंपति को कोर्ट में पेश किया गया, जहां पीछे-पीछे महिलाएं भी वहां पहुंच गई।

बताया गया है कि कचहरी परिसर में भी महिलाओं ने हंगामा किया। एसएसआई अशोक राठौड़ ने बताया कि विधि विवादित दोनों किशोरियों को उनके परिजनों के सुपुर्द किया गया। दंपति को न्यायालय में पेश कर जिला कारागार भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *