देहरादूनः खूनी फ्लाईओवर ने ली एक और जिंदगी, बैंक मैनेजर के बेटे की मौत से मचा कोहराम

देहरादूनः खूनी फ्लाईओवर ने ली एक और जिंदगी, बैंक मैनेजर के बेटे की मौत से मचा कोहराम

राजधानी देहरादून में कई जिंदगियों को लील चुके “खूनी बल्लीवाला फ्लाईओवर” ने एक और युवक की बली ले ली है। यहां तड़के सुबह एक युवक की डिवाइडर से टकरा कर मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा युवक के पिता एस्लेहॉल चौक स्थित पंजाब नेशनल बैंक के शाखा प्रबंधक हैं। जवान बेटे की मौत की सूचना मिलते ही घर में कोहराम मच गया है।

जानकारी के अनुसार आदित्य (25) पुत्र बलवीर सिंह निवासी 815/21 इंदिरानगर कॉलोनी कनॉट प्लेस स्थित एक कॉल सेंटर में नौकरी करता था। उसके पिता बलवीर सिंह एस्लेहॉल चौक स्थित पीएनबी के शाखा प्रबंधक हैं। वह मूलरूप से ग्राम बोला, पोस्ट छिनका, चमोली के रहने वाले हैं। तड़के तीन बजे के करीब वह ड्यूटी कर वापस घर लौट रहा था। माना जा रहा है कि रफ्तार अधिक होने की वजह से फ्लाईओवर से नीचे आते समय बाइक रपट कर डिवाइडर से टकरा गई। हादसे में बाइक व आदित्य दोनों घिसटते हुए काफी दूर तक चले गए। उसके सिर और शरीर के अन्य हिस्सों में काफी चोटें आई थीं। स्थानीय लोगों की सूचना पर उसे तुरंत दून मेडिकल कॉलेज भिजवाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बता दें कि आदित्य के एक भाई और एक बहन हैं। भाई उससे बड़ा, जबकि बहन छोटी है। हादसे के बाद से उसके घर में मातम पसरा हुआ है। बहन और मां बेसुध

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड में दर्दनाक हादसा, खाई में गिरी यात्रियों से भरी जीप,महिला सहित दो की मौत, छह लोग गंभीर घायल

गौरतलब है कि बल्लीवाला फ्लाईओवर खूनी फ्लाईओवर बनता जा रहा है। यहां आये दिन कोई न कोई सफर करने वाला दुर्घटना का शिकार होकर या तो अपनी जान गंवा रहा है या चोटिल हो रहा है। अस्तित्व में आने के बाद से ही यहां अब तक 20 जानें जा चुकी हैं। जबकि बड़ी संख्या में लोग चोटिल हो चुके हैं। गौरतलब है कि देहरादून के बल्लीवाला फ्लाईओवर के सम्बन्ध में उत्तराखंड हाईकोर्ट ने पीडब्लूडी को 3 महीने के भीतर रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए थे। कोर्ट ने फ्लाईओवर के बगल में एक नये फ्लाईओवर को बनाने की संभावना तलाशने और फ्लाईओवर की फिजिबिलिटी रिपोर्ट देने को कहा था।प्रशासन की ओर से एहतियातन फ्लाईओवर के बीच में डिवाइडर लगाए हैं। बावजूद हादसों में कमी नहीं आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *