देहरादून में भाजपाइयों और कांग्रेसियों में भिड़ंत,पथराव; पुलिस ने किया लाठीचार्ज

Dehradun, BJP and Congressmen clash, stone pelting

देहरादून में  निकाय चुनाव के नतीजे आने के बाद राजनैतिक प्रतिद्वंद्विता से रंजिश पैदा हो गई है। जिसके चलते बुधवार को रायपुर थाने में भाजपाइयों और कांग्रेसियों के बीच जमकर बवाल हुआ। देखते ही देखते हालात तनावपूर्ण हो गए। भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट और धक्का-मुक्की होने लगी। इस दौरान हुए पथराव से कई भाजपाई घायल हो गए। सीओ डालनवाला जया बलूनी भी मौके पर मौजूद रहीं। पुलिस ने लाठियां फटकार कर भीड़ को तितर-बितर करने की कोशिश भी की लेकिन इसके बावजूद टकराव जारी रहा।

दरअसल, नगर निगम के चुनाव में रायपुर क्षेत्र के एक वार्ड से कांग्रेस के प्रवेश त्यागी चुनाव जीते थे। 21 नवंबर को विजय जुलूस के दौरान भाजपा और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में मारपीट हो गई थी। मामले में पुलिस ने क्रॉस रिपोर्ट दर्ज की थी। यह मामला अब बढ़ गया है। बताया जा रहा है कि निकाय चुनाव की मतगणना के बाद मंगलवार देर रात भगत सिंह कॉलोनी वार्ड से कांग्रेस उम्मीदवार प्रवेश त्यागी को विजयी घोषित किया गया। जीत के बाद वार्ड में पहुंचे विजेता पार्षद और उनके समर्थकों ने रात में ही बारह बजे के करीब जुलूस निकाला। आरोप है कि जुलूस जब तरला अधोईवाला पहुंचा तो वहां स्थानीय निवासी तारा देवी के घर के सामने आतिशबाजी शुरू कर दी गई। तारा ने घर से बाहर आकर बेटी की बीमारी और बहू के गर्भवती होने का हवाला देते हुए आवाज न करने को कहा तो जुलूस में शामिल लोग भड़क गए और तारा के घर पर ही पथराव शुरू कर दिया। उनके घर पर शराब की बोतलें भी तोड़ी गई। इसकी सूचना उसी रात सीओ जया बलूनी को दी गई, जिसके बाद मौके पर फोर्स भेजी गई। बीते शुक्रवार को इस मामले को लेकर दोनों पक्ष रायपुर थाने पहुंचे, जहां दोनों पक्षों में मारपीट हो गई। मामले में पुलिस ने उसी रात दोनों पक्षों पर मुकदमा दर्ज कर लिया।

बुधवार को इसी मामले को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह रायपुर थाने पहुंचे थे। वह सीओ से बातचीत करने के लिए वरिष्ठ नेताओं के साथ इंस्पेक्टर के कमरे में दाखिल हो गए, जबकि कार्यकर्ता बाहर की धरने पर बैठ गए और नारेबाजी करने लगे।इसकी खबर भाजपाइयों को मिली तो वह भी थाने में जमा होकर कांग्रेस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। जवाबी नारेबाजी के बीच विधायक उमेश शर्मा काऊ पहुंच गए और वह भी थाने के बाहर धरने पर बैठ गए। इधर, मामला बढ़ता देख डालनवाला और आसपास के थाने से फोर्स बुला ली गई। एक-दूसरे से भिड़ने पर आमादा भाजपाइयों व कांग्रेसियों के बीच पुलिस दीवार बनकर खड़ी हो गई, लेकिन तभी किसी ने भीड़ पर पथराव कर दिया। जिसमें डीएवी छात्रसंघ अध्यक्ष जितेंद्र बिष्ट, पूर्व कोआपरेटिव चेयरमैन रामेंद्र मिश्रा व एक अन्य महिला को चोट आ गई। इसके बाद भाजपाई उग्र होने लगे तो पुलिस ने लाठियां भांजकर भीड़ को तितर-बितर किया। एक-दूसरे पर कार्रवाई की मांग को लेकर थाने में दिन के 11 बजे से शाम चार बजे तक हंगामा चलता रहा। जबकि पुलिस-प्रशासन के अधिकारी दोनों पक्षों को समझाने में जुटे रहे।

यह भी पढ़ेंः MP विधानसभा चुनाव: पोलिंग बूथ के बाहर फायरिंग, वोटिंग के दौरान तीन चुनाव अधिकारियों की मौत

देहरादून जिले में रायपुर विधानसभा क्षेत्र में नगर निगम के पांच वार्डों में भाजपा की हार को लेकर उठा विवाद और अधिक तूल पकड़ने लगा था। सियासी गलियारों में चर्चा फैलती जा रही है कि रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ अपने लोगों के बीच यह कहते सुने गए कि हारने वाले भाजपा प्रत्याशियों में से कोई भी उनके क्षेत्र का नहीं है, विधायक गणेश जोशी अपना ठीकरा यहां फुड़वाने यहां आ गए थे। इन बातों के बाहर आने के बाद से कार्यकर्ताओं का गुस्सा पूरे उफान पर है और वे विधायक काऊ को पार्टी से हटाने की मांग कर रहे हैं। हालांकि रायपुर विधानसभा क्षेत्र में नगर निगम के पांच वार्डों में भाजपा की हार को लेकर कार्यकर्ताओं के निशाने पर आए विधायक उमेश शर्मा काऊ ने यह कहकर पलटवार किया कि प्रत्याशी कमजोर थे, इसलिए हारे। भितरघात में उनकी भूमिका पर गलत सवाल उठाए जा रहे हैं। इस बयान के बाद भी भाजपा कार्यकर्ता हार का ठीकरा सीधे-सीधे काऊ के सिर फोड़ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *