धोनी टी-20 टीम से बाहर,चीफ सिलेक्टर का बयान दूसरे विकेटकीपर की तलाश

dhoni out of T20 squad, chief selector's statement seeks second wicketkeeper

वेस्टइंडीज़ और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली टी-20 सीरीज के लिए भारतीय टीम का एलान हो गया है जिसके साथ ही चयनकर्ताओं ने अपने एक फैसले से सभी को चौंका दिया। पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को वेस्ट इंडीज और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए टीम इंडिया में जगह नहीं मिली है। अपनी कप्तानी में भारत को टी-20 का विश्व कप दिलवाने वाले 37 वर्षीय विकेटकीपर पहली बार टी-20 की टीम इंडिया का हिस्सा नहीं होंगे। विंडीज के खिलाफ खेलने वाली भारतीय टीम का कप्तान रोहित शर्मा को बनाया गया है जबकि ऑस्ट्रेलिया दौरे पर विराट कोहली को कप्तानी सौंपी गई है।

धौनी को इन दो टी-20 सीरीज़ के लिए न चुनने के बाद अब भारतीय टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने ऐसा करने के पीछे की वजह बताई है। बीसीसीआई के एक आला अधिकारी ने कहा, विराट कोहली और रोहित शर्मा भी चयन समिति की बैठक में मौजूद थे।’ उन्होंने कहा, ‘क्या आपको लगता है कि उनकी रजामंदी के बिना चयनकर्ता यह फैसला ले सकते थे।’ इसके बाद प्रसाद ने साफ किया कि दूसरे विकेटकीपर्स को मौका देने के लिए धोनी को नहीं चुना गया। एमएसके प्रसाद ने कहा, महेंद्र सिंह धौनी वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली टी-20 सीरीज नहीं खेलेंगे, क्योंकि हम दूसरे विकेटकीपर को विकल्प के तौर पर देख रहे हैं। इसी वजह से हमने रिषभ पंत और दिनेश कार्तिक को मौका दिया। इससे उन्हें बल्लेबाजी और कीपिंग करने का मौका मिलेगा। महेंद्र सिंह धौनी का टी-20 करियर अभी खत्म नहीं हुआ है।’

यह भी पढ़ेंः INDIA vs WEST INDIES, विराट ने तोडा ये वर्ल्ड रिकॉर्ड!आखिरी गेंद पर मैच टाई

बता दें कि कप्तान विराट कोहली को चार नवंबर से वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू होने वाली तीन मैचों की टी-20 सीरीज के लिए आराम दिया गया है। कोहली की गैरमौजूदगी में रोहित शर्मा टीम की अगुआई करेंगे। हालांकि, कोहली इस साल के अंत में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली चार मैचों की टेस्ट सीरीज में वापसी करेंगे। गौरतलब है कि धोनी ने भारत के लिए सबसे ज्यादा टी20 इंटरनैशनल मैच खेले हैं। भारत ने दिसंबर 2006 में अपना टी20 खेलने के बाद अब तक कुल 104 टी20 इंटरनैशनल खेले हैं जिसमें से 93 मैचों में धोनी टीम के साथ रहे। उनकी कप्तानी में ही भारत ने 2007 में खेला गया पहला वर्ल्ड टी20 जीता था। इस दौरान उन्होंने 1487 रन बनाए। उनका स्ट्राइक रेट रहा 127। धोनी ने T20I में 54 कैच पकड़े और 33 स्टंपिंग्स भी कीं। धोनी इंग्लैंड दौरे पर T20I में भारतीय टीम के साथ थे लेकिन उन्हें तीन में से सिर्फ एक में ही बल्लेबाजी करने का मौका मिला था।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *