उत्‍तराखंड में कई बूथों में EVM-VVPAT मशीन है खराब, तो कई लोगों के है वोटर लिस्ट से नाम गायब

उत्‍तराखंड में कई बूथों में EVM-VVPAT मशीन है खराब, तो कई लोगों के है वोटर लिस्ट से नाम गायब

लोकसभा चुनाव के पहले चरण में उत्तराखंड की पांचों लोकसभा सीटों पर सुबह सात बजे से मतदान शुरू हो गया है जो शाम पांच बजे तक चलेगा। राज्‍य चुनाव आयोग के अनुसार, राज्यपाल, मुख्यमंत्री,तमाम नेताओं सहित सूबे में सुबह नौ बजे तक 13.34 प्रतिशत तक मतदान हुआ है। सुरक्षा बलों को मिलाकर कुल 1.12 लाख कार्मिक चुनाव संपन्न करा रहे हैं। देहरादून के कई बूथों पर लिस्ट में नाम न होने से मतदाताओं और बीएलओ की बीच झड़प हुई। यहां यमुना कॉलोनी बूथ पर भाजपा और कांग्रेसियों में नोकझोंक की सूचना मिली है।

देहरादून– धर्मपुर विधानसभा स्थित भागीरथी इंटरनेशनल स्कूल के बूथ में एक वीवीपैट मशीन में खराबी के कारण मतदान शुरू नहीं हो पाया है। इसके चलते एक मशीन को छोड़कर चार अन्य पर वोटिंग शुरू हो गई है। वहीं रुद्रपुर के वार्ड नंबर 20-21 के लिए बनाए गए बूथ में वोट डालने आ रहे लोगों को मतदाता पर्ची नहीं मिलने की शिकायत मिली है। बीएलओ के पास पर्ची को लेकर लाइन लगी है।टनकपुर के वन विश्राम गृह में भी कक्ष संख्या 4 में ईवीएम खराब हुई। यहां सुबह आठ बजे तक एक भी वोट नहीं पड़ा। डीडीहाट के बोराबुंगा बूथ 26 में ईवीएम खराब होने की सूचना है। देहरादून के धर्मपुर में बूथ 86 ग्राफिक एरा और ऋषिकेश के बूथ 78 की ईवीएम खराब है। देहरादून के सेलाकुई में राज्य पूर्व माध्यमिक विद्यालय बूथ 107 पर मतदान 50 मिनट लेट शुरू हुआ। पोलिंग बूथ मशीन का बटन ऑन न होने के कारण ऐसा हुआ। वोटरों ने शाम को समय बढ़ाने की मांग की है। लोहाघाट के बजरंग बली वार्ड के प्राइमरी बूथ में वीवीपैट मशीन में तकनीकी खराबी के चलते 41 मिनट बाद मतदान शुरू हुआ। देहरादून के गढ़ी कैंट स्थित ब्लूमिंग वुड्स पब्लिक स्कूल में लिस्ट में नाम न होने के कारण आधार कार्ड से भी मतदाताओं को वोट नहीं देने दिया जा रहा है।बूथ संख्या 99 बंजारावाला में वीवीपैट में खराबी की वजह से अभी तक मतदान शुरू नहीं हुआ है।

आपको बता दें कि करीब एक महीने तक चले सघन प्रचार के बाद वह मौका आ ही गया जब प्रदेश के मतदाता अपने सांसद चुनने के लिए मतदान कर रहे हैं। आयोग के निर्देशों के अनुसार मतदान शुरू होने से पहले बैलेट, सेंटर यूनिट और वीवीपैट की जांच के लिए सुबह छह बजे प्रत्येक पोलिंग बूथ पर 50 मतों का मॉक पोल शुरू हुआ। जिसके बाद सेंटर यूनिट और वीवीपीट से मॉक पोल के मतों का हटाकर सात बजे से मतदान की प्रक्रिया शुरू की गई। निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव के लिए प्रदेश को 237 सेक्टर और 1371 जोन में बांटा गया है। कुल 11229 पोलिंग बूथों पर 56145 कार्मिक तैनात किए गए हैं और 11235 रिजर्व में रखे गए हैं।किसी अप्रिय घटना से निपटने के लिए भारी सुरक्षा बल और पुलिस की तैनाती की गई है।बूथों के बाहर लोगों की लाइन लग गई है। वहीं देहरादून जिले के विकासनगर में मतदाता सूची में नाम न होने से लोग परेशान हुए। स्थानीय ललित गुप्ता के मुताबिक उनके परिवार का मतदाता सूची से नाम गायब है। क्षेत्र में कुछ अन्य लोगों में भी इसे लेकर नाराजगी है।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड लोकसभा चुनावः पांचों सीटों पर थमा प्रचार ,47 हजार जवानों के हाथ में सुरक्षा की जिम्मेदारी

गौरतलब है कि पांच सीटों पर 47 पुरुष और पांच महिला प्रत्याशियों समेत कुल 52 प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहे हैं। इनमें केंद्रीय राज्य मंत्री अजय टम्टा, पूर्व मुख्यमंत्री व सांसद रमेश पोखरियाल निशंक, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह, राज्यसभा सदस्य प्रदीप टम्टा के अलावा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह भी शामिल हैं। इनके अलावा भाजपा के राष्ट्रीय सचिव तीरथ सिंह रावत, कांग्रेस के अंबरीष कुमार, बसपा नेता अंतरिक्ष सैनी और भाजपा के मौजूदा सांसद भुवन चंद्र खंडूड़ी के पुत्र मनीष खंडूड़ी, जो पौड़ी सीट से कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं, सभी प्रत्याशियों की किसमत जनता के हाथ में है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *