भारतीय वायुसेना के एक्स सर्विसमेन उत्तराखंड के युवाओं को देंगे प्रशिक्षण

भारतीय वायुसेना के एक्स सर्विसमेन उत्तराखण्ड के दूरदराज गावों में युवाओं को कौशल विकास प्रशिक्षण देने तथा कृषि विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत तथा एयर वाईस मार्शल ओ0 पी0 तिवारी के मध्य गुरूवार को मुख्यमंत्री आवास में भारतीय वायुसेना व राज्य सरकार के मध्य विभिन्न मुद्दों व प्रभावी समन्वय पर चर्चा की गई।

वीएसएम डाइरेक्टर जनरल एयरफोर्स नवल हाउसिंग बोर्ड, एयर वाईस मार्शल ओ0पी0 तिवारी ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र को जानकारी दी कि भारतीय वायुसेना के 30 लाख से भी अधिक एक्ससर्विसमेन पूरे देश के 700 से अधिक जिलो में है। उत्तराखण्ड में भी बड़ी संख्या में सभी जिलों में भारतीय वायुसेना के एक्ससर्विसमैन मौजूद है। भारतीय वायुसेना के एक्ससर्विसमैन अपने सेवाकाल के श्रेष्ठ अनुभवों, प्रशिक्षण, ज्ञान व जानकारियों के माध्यम से उत्तराखण्ड के दूरस्थ पर्वतीय गांवों में युवाओं को विभिन्न तरह के कौशल प्रशिक्षण देने में सहायता कर सकते है। इसके साथ ही एयर वाईस मार्शल ने भारतीय वायुसेना के भूतपर्व सैनिकों के माध्यम से राज्य में ग्रामीण कृषि के विकास में कार्य करने रूचि जताई।

आम जन को आवंटित हो सकते है फ्लैट्स 

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र व एयर वाईस मार्शल के मध्य देहरादून में नन्दा की चैकी के पास स्थित एयरफोर्स नवल हाउसिंग बोर्ड के 807 आवासीय फ्लैट्स में से रिक्त पड़े अवशेष 30 फ्लैट्स को आम जन को आवंटित किए जाने तथा आवासीय परिसर के पास नदी में सुरक्षा दीवार निर्माण पर भी चर्चा की गई। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने एयर वाईस मार्शल को राज्य सरकार के ओर से हर संभव सहयोग एवं सहायता का आश्वासन दिया।  इस अवसर पर मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह भी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ेंः “राज्य स्तरीय खेल महाकुम्भ” का शुभारम्भ,विशेष ट्रेनिंग के लिए होगी विदेश कोच की व्यवस्था

सेवा का अधिकार को मजबूती देगा उत्तराखण्ड लोक सेवा अभिकरण

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की अध्यक्षता में उत्तराखण्ड लोक सेवा अभिकरण की पहली साधारण आम सभा की बैठक। सूचना तकनीक से जनशिकायत निवारण तंत्र को प्रभावी बनाया जाएगा। आमजन की शिकायतों को त्वरित निवारण करने के लिए गठित उत्तराखण्ड लोक सेवा अभिकरण  की प्रथम साधारण आमसभा की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने अधिकारियों से अभिकरण की भूमिका पर चर्चा की। बैठक मुख्यमंत्री आवास में आयोजित की गई।इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने उत्तराखण्ड लोक सेवा अभिकरण “यूकेएसएपीएस” के लोगो “सवहव” का विमोचन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभिकरण के कार्यो को आईटी विभाग के सहयोग से अधिकाधिक प्रभावी बनाया जा सकता है। आमजन की शिकायतों के निवारण हेतु मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1905 शुरू की जाएगी। इसके लिए 50 सीटों के काॅल सेन्टर की स्थापना उत्तराखण्ड लोक सेवा अभिकरण द्वारा आउटसोर्स के माध्यम से की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *