उत्तराखंड :पिता ने सिर्फ इसलिए किया पांच साल के मासूम का बेहरमी से कत्ल

father murder his son

उत्तराखंड के रुड़की मंगलोर से एक दिल दहलाने वाली घटना प्रकाश में आई है। एक मासूम को क्या पता था की उसके पिता ही उसकी ज़िंदगी को समाप्त कर देगें। दरअसल पांच साल के मासूम की उसके पिता ने ही गला घोंटकर हत्या की और शव को खेत में फेंक दिया। दो दिन से अपहरण की झूठी कहानी बताकर पिता खुद ही पुलिस को गुमराह करता रहा।जिसे सुन हर कोई सुन्न हो गया। मामले का खुलासा होते ही इलाके में सनसनी फ़ैल गई।

बताया जा रहा है की नौ जून को मंगलौर के लालबाड़ा निवासी पांच वर्षीय धैर्य उर्फ कान्हा अचानक लापता हो गया था। पिता शोभित अग्रवाल ने पुलिस को तहरीर देकर बताया था कि वह बेटे धैर्य को चिप्स दिलाने बाहर निकला था। इसके बाद वह धैर्य को उसके चाचा के पास छोड़कर चला गया। तब से ही बच्चा गायब है। एसपी (देहात) मणिकांत मिश्रा ने बताया कि जांच में लोगों से पता चला कि धैर्य को उसके पिता के साथ अलग-अलग जगहों पर देखा गया। इसके बाद कस्बे में विभिन्न जगहों पर लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए। उसमें शोभित ही अपने बेटे को बाइक पर ले जाता दिखा। सोमवार को शोभित को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो उसने मामले का खुलासा किया। शोभित ने पुलिस की सख्ताई के बाद अपनी हैवानियत बयान कर दी की उसने किस प्रकार अपने ही बेटे को मौत के घाट उतार दिया।

एसपी (देहात) ने बताया कि शोभित ने आर्थिक तंगी के चलते बच्चे का खर्च न उठा पाने को कारण हत्या की वजह बताया है, नौ जून को ही लिब्बरहेड़ी के समीप खेतों में ले जाकर धैर्य को गला घोंटकर मारने के बाद शव खेत में फेंकने की बात कबूल की। उसकी निशानदेही पर बच्चे का शव बरामद कर लिया गया। पुलिस ने अपहरण के मामले को हत्या की धारा में तरमीम कर दिया है।
यह भी पढ़े :उत्तराखंड : 11 साल के मासूम के कांधो पर चार अर्थियां , दुनिया की समझ नहीं दुनिया ही उजड़ी

बता दे की शोभित की पशु चारे की एजेंसी के साथ ही दवा की दुकान भी है। उसके परिवार के अन्य सदस्यों की आर्थिक स्थिति ठीक है। ऐसे में पिता द्वारा बताए जा रहे आर्थिक तंगी के कारणों की जांच की जा रही है। वहीं मां प्रियंका, चाचा और दादा-दादी को रो-रोकर बुरा हाल है।,क्षेत्र में हुई इस तरह की पहली घटना से हर कोई दुखी है। इलाके में सनसनी मची हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *