वास्तु दोष के बुरे प्रभाव से बचने के लिए घर में करे यह काम

घर में वास्तु शास्त्र के अनुसार लगाएं फूल,मिलते हैं चमत्कारिक लाभ

नई दिल्ली। फूल हमेशा लोगों को अपनी ओर आकर्षित करते रहते हैं। फूलों को देखकर हर किसी का मन खुशियों से भर जाता है। हर फूल की अपनी एक चमत्कारिक ऊर्जा शक्ति होती है। यह शक्ति व्यक्ति के नेत्रों द्वारा प्रवेश कर शरीर में मौजूद विभिन्न चक्रों को संतुलित करती है। मानव शरीर में सात चक्र होते हैं। इन चक्रों में अवरोध होने के कारण व्यक्ति के जीवन में दुःख व बीमारियां आती हैं। अगर व्यक्ति सूझबूझ से काम ले, तो इस तरह की समस्याओं से बच सकता है। वास्तुशास्‍त्र के अनुसार, प्रकृति में ऐसे बहुत से उपाय हैं, जो जीवन की समस्याओं को दूर कर सकते हैं। आजकल बढ़ते- प्रदूषण के कारण लोगों ने घर में जगह होने पर बगीचा या छत पर बगीचा बनाना शुरू कर दिया है। ऐसा करने से पर्यावरण संतुलन तो होता ही है, आपको ताजी हवा व भरपूर ऑक्सीजन भी मिलती है।

उचित दिशा में लगाने से मिलते हैं चमत्कारिक लाभ 

बगीचे की पूर्व दिशा में हरे रंग के पौधे लगाएं। पूर्व दिशा में हरियाली व्यक्ति को स्वस्थ व परिवार में एकता लाती है। पुदीने का पौधा, खसखस का पौधा, फर्न बगीचे के पूर्व में लगाने से जीवन स्वस्थ और सुंदर बनता है। किंतु आज के समय में जगह के अभाव में बगीचे का होना एक सपना ही रह गया है। इसलिए आधुनिक वास्तु विज्ञान के अनुसार, आप फूलों के चित्र व पेंटिंग लगाकर भी लाभ्‍ा प्राप्त कर सकते हैं। उचित फूलों का चित्र, उचित दिशा में लगाने से भी चमत्कारिक लाभ मिलता है। वहीं आधुनिक वास्तु विज्ञान के अनुसार, फूल व पौधों को बगीचे में उचित स्थान देने से चमत्कारिक लाभ मिलता है। लाल रंग के फूल जीवन में उत्साह व उमंग लाते हैं। इस रंग के फूल वाले पौधों को बगीचे के दक्षिण क्षेत्र में लगाना लाभकारी होता है।

दक्षिण दिशा में लगा हुए लाल फूल हमें प्रसिद्धि व यश प्रदान करते हैं। लाल गुलाब व गुड़हल बगीचे के दक्षिण में लगाना शुभ फल देता है। इससे दांपत्य जीवन में भी मधुरता आती है व घर खुशियों से भरा रहता है।  आज के समय में बच्चे बहुत ही पीड़ा से गुजर रहे हैं। बढ़ती प्रतिद्वंदिता ने बच्चों का बचपन छीन लिया है। बगीचे के पश्चिम में लगे चांदनी, मोगरा, चमेली जैसे फूल उन्हें शांति और स्थिरता प्रदान करते हैं। इस रंग के फूल के पौधे घर के बगीचे की पश्चिम दिशा में लगाने से बच्चे अपना लक्ष्य सहज ही प्राप्त करते हैं। बगीचे के पश्चिम क्षेत्र में सफेद फूल परिवार के बच्चों को रचनात्मक शक्ति प्रदान करते हैं। यह उनके मन को शांत व संतुलित बनाते हैं। बगीचे के उत्तर क्षेत्र में नीले रंग के फूल के पौधे व्यवसाय व जीविका को उच्चता प्रदान करते हैं। नीला रंग व्यक्ति के जीवन में स्थिरता व स्वच्छता लाता है। नीलकमल, पटसन, असोनिया आदि के लगाने से व्यक्ति को व्यावसायिक प्रगति मिलती है, जीवन में आ रही सभी बाधाएं कम हो जाती हैं।

ये भी पढ़ें-यह मंत्र बोलकर तोड़े तुलसी पत्र, घर में बनी रहे कृपा

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *