गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का लंबी बीमारी के बाद निधन,श्रद्धांजलि देने उमड़ी भीड़

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का रविवार को निधन हो गया है. वे लंबे समय से कैंसर से जूझ रहे थे. पिछले कुछ दिनों से उनकी परेशानी बढ़ गई थी। इसके बाद उन्हें गोवा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था।डॉक्टरों ने उनकी हालत सुधारने की कोशिश की, लेकिन उनकी स्थिति लगातार गिरती गई. उनके निधन पर देश गम में डूब गया है। राजनीति, सिनेमा, खेल और कला जगत से जुड़ी हस्तियों ने गहरा दुख जताया है।गोवा के मुख्यमंत्री और देश के रक्षा मंत्री रहे मनोहर पर्रिकर सियासत में सादगी की जीती-जागती मिसाल थे।

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन पर देश की मानिंद हस्तियों ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी।सबसे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर उनके निधन के बारे में सूचना दी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई राज्यों के मुख्यमंत्री, मंत्री और विपक्षी नेताओं ने भी उनकी सादगी की सराहना करते हुए सिद्धांतवादी नेता बताया. सभी ने कहा कि मनोहर पर्रिकर के निधन से हुए खालीपन को भर पाना मुश्किल है. गोवा के मंत्रियों का भी कहना है कि अब कोई दूसरा मनोहर पर्रिकर नहीं हो सकता।कवि कुमार विश्वास ने मनोहर पर्रिकर के निधन पर दो ट्वीट किए. एक ट्वीट में उन्होंने कहा- वचन में बेहद विनम्रता और कर्म में अनहद हनक के धनी, देश के सशक्त, समर्थ और सम्मानित रक्षा मंत्री रहे मनोहर पर्रिकर जी की शक्त जिजीविषा अंततः आज विराम लेने को चल दी।उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि। दूसरे ट्वीट में कुमार विश्वास  (Kumar Vishwas) ने लिखा- आखिर आप ने हमारी प्रार्थना का मान रखा @manoharparrikar सर .  ईश्वर की कृपाछाया में विश्राम करिए।

यह भी पढ़ेंः देहरादून में खौफनाक वारदात ,सिटी कोतवाल के भाई पर बरसाई गोलियां ,खून से लथपथ मिला शव

डॉक्टरों ने उनकी हालत सुधारने की कोशिश की, लेकिन उनकी स्थिति लगातार गिरती गई। डॉ. जगन्नाथ बताते हैं, ‘वह बिल्कुल तरोताजा दिख रहे थे। कोई नहीं कह सकता था कि वह बीमार हैं। देर शाम जब उनकी रिपोर्ट आई तो मैं थोड़ा दुखी था। उनके अग्नाशय में कुछ जख्म थे। दुर्भाग्य से अग्नाशय के जख्मों का शुरुआती लक्षण बहुत कम दिखता है।’ जगन्नाथ कहते हैं, ‘मेरे दिल में पर्रिकर के लिए बहुत सम्मान है, इसलिए नहीं कि वह गोवा के सीएम और देश के पूर्व रक्षा मंत्री थे, बल्कि इसलिए क्योंकि वह बेहद ईमानदार, मेहनतकश और लोगों के नेता हैं। उनके जैसा उच्च नैतिकता वाला नेता होना बहुत मुश्किल है। उनकी शिक्षा बेहद शानदार रही, वह आईआईटी से हैं। गोवा में सब उन्हें प्यार करते हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *