बिहार के कई जिलों में बाढ़ का कहर लगातार जारी, कई लोगों की मौत

बिहार में बाढ़ की स्थिति और भी गंभीर होती जा रही है और कोसी नदी ने अब भयानक रूप धारण कर लिया है। कई गांवों में नदियों के तटबंध टूट चुके है जिससे कई लोगों की जान जा चुकी है।

इस खबर को पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए

भूस्खलन की वजह से एक घंटे तक बाधित रहा गौरीकुंड हाईवे    https://www.uttaravani.com/landslide-in-uttarakhand/

उफनाई नदियों का पानी उत्तर बिहार, कोसी और सीमांचल के जिलों के गांव और शहर में घुसकर कहर ढा रहा है। बिहार के कई जिलों में बाढ़ का कहर लगातार जारी है। नेपाल की सीमा से लगे क्षेत्रों में हो रही मूसलाधार बारिश से राज्य की पांच नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही है।

सोमवार को भी जिले के कई इलाकों में बाढ़ का कहर जारी रहा। लोगों के घरों में नदी का पानी घुस गया है, जिसकी वजह से लोग हाईवे, प्रमुख सड़क, स्कूल और रेलवे पटरी पर तम्बू लगा कर जैसे-तैसे रह रहे हैं। अब भी सैकड़ों की आबादी बाढ़ के पानी में घिरी हुई है।

मुख्यमंत्री ने बाढ़ की स्थिति की समीक्षा के लिए उच्च स्तरीय बैठक की। बैठक में मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को राहत शिविरों में बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए समुचित व्यवस्था पर नजर रखने के निर्देश दिए है।

इस खबर को पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए

भूस्खलन की वजह से एक घंटे तक बाधित रहा गौरीकुंड हाईवे    https://www.uttaravani.com/landslide-in-uttarakhand/

बाद में उन्होंने दरभंगा, मधुबनी, शिवहर, सीमामढ़ी और पूर्वी चंपारण जिलों के बाढ़ प्रभावित इलाके का हवाई सर्वेक्षण किया। इस दौरान सीएम के साथ जल संसाधन मंत्री भी मौजूद थे। वहीं, बिहार में बाढ़ पीड़ितों को बचाने के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम भी लगी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *