उत्तराखंडः बहू के हाथों की मेहंदी उतरने से पहले ही ससुरालियों ने गर्भवती बहु की जहर देकर कर दी हत्या

In-laws murder her pregnant daughter-in-law

प्रदेश में खौफनाक घटना का खुलासा हुआ है। शादी को अभी दो महीने भी नहीं बीते और पति समेत पूरा परिवार हैवान बन बैठा। उन्हें गर्भवती बहु पर जरा भी तरस नहीं आया। पूरे परिवार ने उसे जहर देकर मौत की नींद सुला दिया।

जानकारी के अनुसार बैजनाथ थाने में 13 सितंबर 2017 को विमला देवी पत्नी मोहन चंद्र खुल्बे निवासी मन्यूड़ा ने नवविवाहित बेटी आरती की हत्या का केस दर्ज कराया था। आरोप था कि सैन्य कर्मी पति रवि पांडे, ससुर महेश पांडे, सास तारकेश्वरी देवी उर्फ तारा देवी, ननद रुचि पांडे ने आरती को जहर देकर हत्या कर दी। बताया जा रहा है की रवि और आरती की शादी भी विवादों के बीच हुई थी। आरोप था कि रवि ने आरती को प्रेम जाल में फंसाया। बाद में रवि शादी से मुकरने लगा। मामला पुलिस तक पहुंचा तो वह शादी के लिए राजी हुआ। शादी के तुरंत बाद ही पति और अन्य आरोपी ससुराली आरती का उत्पीड़न करने लगे थे। अंतत: उन्होंने गर्भवती आरती की हत्या कर दी। करीब एक साल बाद मृतिका के परिजनों को न्याय मिला है। कोर्ट ने चारों आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है साथ ही आरोपियों पर 1.70 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है।

बता दें कीमामले की पैरवी डीजीसी अधिवक्ता आबिद हसन और एडीसी चंचल पपोला ने की।सीओ महेश जोशी और सीओ वीर सिंह ने घटना की विवेचना की।इसके बाद अब जिला सत्र न्यायाधीश डॉ. जीके शर्मा ने हत्यारोपी पति, सास, ससुर, ननद को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। इसके साथ ही सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। आरोपियों ने शादी के दो माह बाद ही नवविवाहिता की जहर देकर हत्या कर दी थी। इस मामले की जांच के बाद बैजनाथ पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट अदालत में पेश की।सुनवाई में अभियोजन पक्ष ने 18 गवाह पेश किए। लैब परीक्षण में भी जहर की पुष्टि हुई।आखिरकार दोनों पक्षों की दलीलें सुनने और साक्ष्यों के अवलोकन के बाद जिला सत्र न्यायाधीश ने उत्पीड़न और हत्या में सभी आरोपियों को दोषी पाते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई। साथ ही आरोपियों पर 1.70 लाख रुपये का जुर्माना भी ठोका। चारों आरोपियों को अदालत के आदेश पर जेल भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ेंः शर्मनाक : हल्द्वानी में बेहोशी की हालत में युवती से गैंगरेप, वीडियो बना कर किया वायरल
दो साल की मासूम की हत्या में पिता समेत दो को उम्रकैद
वहीं ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र में दो वर्षीय बालिका की निर्मम हत्या के मामले में सत्र न्यायाधीश विवेक भारती शर्मा ने उसके पिता समेत दो अभियुक्तों को आजीवन कारावास तथा 45-45 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई। शासकीय अधिवक्ता इंद्रपाल बेदी ने बताया कि ग्राम तेलीवाला धनौरी बहादराबाद निवासी बती पत्नी सियानंद पुत्री बनारसी दास ने 23 सितंबर 2012 को ज्वालापुर कोतवाली में एक मुकदमा दर्ज कराया था। इसमें उसने कहा था कि वह वर्तमान में ग्राम सराय में अपने पति के साथ किराये के मकान मे रहती है। उसका पति शराबी है और अक्सर उसके साथ मारपीट करता है। और उससे बच्ची को छीनकर ले गया और हत्या कर उसका शव गन्ने के खेत में छुपा दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *