देहरादून में ‘‘आईसीआईसीआई एकेडमी फाॅर स्किल’’ के नये केन्द्र का उद्घाटन, युवाओं को मिलेगा लाभ

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को कान्वेंट रोड देहरादून में ‘‘आईसीआईसीआई एकेडमी फाॅर स्किल’’ के नये केन्द्र का उद्घाटन किया। इस अवसर पर युवाओं के समावेशी विकास के लिए एमओयू हस्ताक्षरित किया गया। एमओयू पर उत्तराखण्ड सरकार की ओर से सचिव  रंजीत कुमार सिन्हा व आईसीआईसीआई फाउंडेशन के अध्यक्ष सौरभ सिंह ने हस्ताक्षर किये।
आईसीआईसीआई एकेडमी देहरादून में अपने केन्द्र को पीपीपी के तहत संचालित करेगी और इसका संचालन उत्तराखण्ड सरकार के कौशल विकास और शिक्षा विभाग के सहयोग से किया जायेगा। इस केन्द्र में प्रतिवर्ष 550 युवाओं को ‘विक्रय कौशल’ व कार्यालय प्रशासन का प्रशिक्षण दिया जायेगा। मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्किल इंडिया के सपने को पूरा करने के लिए युवाओं का कौशल विकास जरूरी है। इस दिशा में आईसीआईसीआई फाउण्डेशन ने सराहनीय कदम उठाये हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रमिको का न्यूनतम पारिश्रमिक 6710 से बढ़ाकर 8300 रूपये प्रतिमाह किया जायेगा। उन्होंने कहा कि युवाओं का कौशल विकास कर उनको स्वरोजगार के लिए पे्ररित करना होगा, ताकि वे और लोगों को स्वरोजगार से जोड़ सके। कौशल विकास से संबधित संस्थानों में ट्रेड को बढ़ाते हुए आधुनिक तकनीकि पर काम करने की जरूररत है। समय की मांग के अनुसार युवाओं को विभिन्न तकनीकि प्रयोगों के लिए तैयार करना जरूरी है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं के कौशल विकास में औद्योगिक संस्थानों का सहयोग भी जरूरी है। राज्य के समग्र विकास के लिए सभी जनपदों में प्रतिव्यक्ति आय बढ़ाने के साथ संतुलन भी जरूरी है। स्वरोजगार प्रतिव्यक्ति आय को बढ़ाने का एक अच्छा विकल्प है। उत्तराखण्ड में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए ग्रोथ सेंटर विकसित किये जा रहे हैं। सोलर एनर्जी, पिरूल नीति आदि पर राज्य सरकार कार्य कर रही है। चीड़ से 143 किस्म के आइटम बनाये जा रहे हैं। उत्तराखण्ड में पिरूल से तारपीन के तेल, तारकोल, डीजल व बिजली उत्पादन पर कार्य किया जा रहा है। बागेश्वर में रेजिन बेस्ड एक सेंटर स्थापित भी किया जा चुका है।श्रम एवं सेवायोजन तथा कौशल विकास विकास मंत्री डाॅ. हरक सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश में युवाओं को रोजगार व स्वरोजगार प्रदान करने के लिए इंडस्ट्रियों, बैंको व अन्य संस्थानों को भी सरकार के साथ सहयोग करना होगा। उन्होंने आईसीआईसीआई फाउंडेशन को उत्तराखण्ड में अपना प्रथम स्किल सेंटर खोलने पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि इस फाउण्डेशन का युवाओं को प्रशिक्षित कर प्लेसेमेंट देने का रिकाॅर्ड अच्छा है। प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना से अनेक युवाओं के कौशल क्षमता में वृद्धि हुई है।
आईसीआईसीआई फाउंडेशन के अध्यक्ष सौरभ सिंह ने कहा कि इस स्किल सेंटर में युवाओं को 03 माह का प्रशिक्षण दिया जायेगा। फाउंडेशन का 2020 तक 5 लाख लोगों को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य रखा गया है। यह देश में आईसीआईसीआई का 25वां व उत्तराखण्ड में पहला प्रशिक्षण केन्द्र है। इस अवसर पर इण्डस्ट्री एसोसिएशन के अध्यक्ष पंकज गुप्ता, सास्कृतिक विभाग के उपाध्यक्ष घनानन्द, पद्मश्री अनिल जोशी, प्रमुख वन संरक्षक जयराज, अपर सचिव डाॅ. इकबाल अहमद, निदेशक सेवायोजन जे.एस. नगन्याल आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *