नरोपा फैलोज़ के लिए इंटर्नशिप मॉड्यूल, दुनिया के स्टार्ट-अप इकोसिस्टम के लिए करेगा एक्सपोज़र प्रदान

नरोपा फैलोज़ के लिए इंटर्नशिप मॉड्यूल, दुनिया के स्टार्ट-अप इकोसिस्टम के लिए करेगा एक्सपोज़र प्रदान

नरोपा फैलोशिप ने  एक वर्षीय पोस्ट-ग्रेजुएट एकेडमिक प्रोग्राम  छह सप्ताह का इंटर्नशिप मॉड्यूल पेश किया, जो नई दिल्ली में जनवरी माह से फैलोज़ के लिए उपलब्ध होगा। यह इंटर्नशिप मॉड्यूल फेलोज़ को वास्तविक दुनिया के स्टार्ट-अप इकोसिस्टम के लिए एक्सपोज़र प्रदान करेगा, उन्हें देश भर के उद्यमियों, इनोवेटर्स और विचारकों के साथ काम करने का मौका प्रदान करेगा। उत्तराखण्ड में निवास कर रहे नरोपा फैलोज़ के लिए भी यह एक बेहतर अवसर है।

भारत में सामुदाय के प्रति उत्साही युवा नेता बनाने के उद्देश्य के साथ 25 से अधिक अग्रणी स्टार्ट-अप्स जैसे नियरबाय डॉट कॉम, यंग इण्डिया फाउन्डेशन, सेंटर फॉर सिविल सोसाइटी, हरप्पा, 17000 फीट फाउन्डेशन, फेज़ एक्सपीरिएंस, लाल 10, वर्ल्ड आर्ट कम्युनिटी, 91 स्प्रिंगबोर्ड, हैबिटेट फॉर ह्युमेनिटी इण्डिया आदि इसके साथ इंटर्नशिप पार्टनर्स के रूप में जुड़े हैं।इंटर्नशिप मोड्यूल की शुरूआत करते हुए अपूर्व बम्बा, मास्टर कोच फॉर एंटरेप्रेन्यूरशिप टै्रक, नरोपा फैलोशिप ने कहा, ‘‘नरोपा फैलोशिप ऐसे ग्लोबल लीडर्स निर्माण के लिए तैयार की गई फैलोशिप है जो कारोबार की नैतिक प्रथाओं के साथ स्थायी ग्रह के महत्व को समझें। इस इंटर्नशिप मोड्यूल के माध्यम से हम अपने फैलोज़ को स्थायी उद्यमिता प्रणाली पर शिक्षित करना चाहते हैं, जो देश-विदेश के विचारकों के नेतृत्व में अपनी खुद की उद्यमी यात्रा की शुरूआत कर सकेंगे।’’

अपूर्व बम्बा, मास्टर कोच फॉर एंटरेप्रेन्यूरशिप टै्रक, नरोपा फैलोशिप ने कहा, कि 45 दिनों के इस पाठ्यक्रम में फैलोज़ को अग्रणी स्टार्ट-अप्स के साथ काम करने का मौका मिलेगा, वे अपनी पसंद के क्षेत्र में व्यवहारिक अनुभव पा सकेंगे और पिछले चार माह में उन्होंने जो ज्ञान हासिल किया है, उसे इस्तेमाल करने का अवसर मिलेगा।अंकुर वारीकू, सीईओ नियरबाय डॉट कॉम, आस्था गुप्ता, सह-संस्थापक, यंग इण्डिया फाउन्डेशन, शोभित अरोड़ा, सीईओ, वर्ल्ड आर्ट कम्युनिटी, श्रेयसी सिंह, संस्थापक सीईओ, हरप्पा, सुजाता साहू, संस्थापक निदेशक, 17 हजार फीट फाउन्डेशन, संचित गोविल, सह-संस्थापक और सीओओ, लाल 10 तथा कई अन्य मेंटर फेलोज़ को मार्गदर्शन एवं परामर्श देंगे।

यह भी पढ़ेंः प्रौद्योगिकी की मदद से तेलंगाना में हथकरघा बुनकरों को सशक्त बनाएगा माइक्रोसॉफ्ट फिलैन्थ्रपीज़

इंटर्नशिप के बाद फेलोज़ को मिनिम वायबल प्रोडक्ट के बारे में जानकारी दी जाएगी- यह एक ऐसा प्रोडक्ट हो जो उपभोक्ताओं को संतोजनक सेवाएं प्रदान करता है और उनके विचारों से भावी उत्पादों के विकास के लिए फीडबैक देता है। एमवीपी को जांच के बाद बाज़ार में उतारा जाएगा और इसमें सुधार किए जाएंगे। इसे मजबूत बनाकर बाज़ार में प्रतिस्पर्धा के लिए सक्षम बनाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *