जॉनसन एंड जॉनसन सालों से जानबूझकर बेच रही कैंसर पैदा करने वाला पाउडर, रिपोर्ट से खुलासा

Johnson & Johnson sells cancer-producing powder

अमेरिकी फार्मा कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन को लंबे समय से पता था कि उसके बनाए बेबी पाउडर में हानिकारक केमिकल एसबेस्टस मौजूद है। इस साल अगस्त में अमेरिका की मिसौरी की एक अदालत ने बेबी पाउडर से कैंसर होने की बात साबित होने के बाद कंपनी पर करीब 32 हजार करोड़ रुपये का भारी-भरकम जुर्माना भी लगाया था।

रिपोर्ट के मुताबिक, जॉनसन एंड जॉनसन के अधिकारियों, प्रबंधकों, वैज्ञानिकों, डॉक्टरों और वकीलों को भी पता थी, लेकिन उन्होंने यह बात छिपाए रखी। अमेरिकी रेगुलेटर्स की योजना थी कि कॉस्मेटिक टैल्कम पाउडर में एसबेस्टस की मात्रा सीमित की जाए। लेकिन कंपनी ने इन कोशिशों के खिलाफ रेगुलेटर्स पर दबाव बनाया। इसमें उन्हें कामयाबी भी मिली। बता दें कि 22 महिलाओं द्वारा दायर किए गए एक मामले में  महिलाओं का आरोप था कि कंपनी के पाउडर आधारित उत्पादों के चलते उनमें गर्भाशय का कैंसर विकसित हुआ है। शिकायतकर्ताओं के अनुसार, टैलकम पाउडर आधारिक उत्पादों में मौजूद एसबेस्टस ने उनमें गर्भाशय के कैंसर के विकास में योगदान दिया। यह पहला मामला था जब एसबेस्टस की वजह से कैंसर होने का पता चला। जिसके बाद ज्यूरी ने सर्वसम्मति के बाद यह फैसला जारी किया। और कंपनी पर करीब 32 हजार करोड़ रुपये का भारी-भरकम जुर्माना भी लगाया।

यह भी पढ़ेंः  माइक्रोसॉफ्ट और इंटेल की रिपोर्ट से खुलासा, भारतीय एसएमबी पुराने पीसी पर खर्च कर रहे हैं लाखों

रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि 1971 से 2000 के बीच कई बार कंपनी के रॉ पाउडर और बेबी पाउडर की टेस्टिंग हुई और हर बार एस्बेस्टस होने की पुष्टि हुई। रिपोर्ट ने हवाला देते हुए कहा कि कंपनी ही नहीं बल्कि इसके एग्जीक्यूटिव से माइन मैनेजर तक, सब इस बात को जानते थे। इतना ही नहीं साइंटिस्ट, डॉक्टर और यहां तक की कंपनी के वकील को भी इस बात की जानकारी थी। इतना सब होने के बावजूद भी कंपनी अपने प्रॉडक्ट बेच रही थी। रिपोर्ट इससे जुड़े कई दस्तावेजों का अध्ययन करने के बाद तैयार की गई।हालांकि अभी यह बात साफ नहीं हो पाई है कि क्या कंपनी ने इन उत्पादों को केवल अमेरिका में ही बेचा, या फिर इनको अन्य देशों में निर्यात किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *