Mother day Special: जानिए मदर्स डे की असली कहानी और इस दिन से जुड़ी दिलचस्प बातें

Mother day Special: जानिए मदर्स डे की असली कहानी और इस दिन से जुड़ी दिलचस्प बातें

मां-बच्चे के रिश्ते से प्यारा इस दुनिया में कुछ भी नहीं है। सिर्फ मां ही है जो अपने बच्चे की खुशी ही नहीं बल्कि गम को भी पहचान लेती है। कहते हैं कि भगवान हर जगह नहीं पहुंच सकते इसलिए उसने हर घर में मां को अपने रूप में भेजा है। सिर्फ मां ही अपने बच्चे और पूरे परिवार का ख्याल रखने के लिए सारा दिन काम करती हैं। इसलिए मां को सम्मान देने और उन्हें स्पेशल फील करवाने के लिए दुनियाभर में 13 मई को मदर्स डे मनाया है।

दुनियाभर में मई माह के दूसरे रविवार को मदर्स डे मनाया जाता है। खास तौर से मां के प्रति कृतज्ञता व्यक्त कर उनके दिए गए अथाह प्यार और स्नेह के लिए धन्यवाद देने का एक माध्यम है यह दिन। जितना खास है यह दिन, उतनी ही रोचक है इस दिन को मनाने की शुरुआत भी। अलग-अलग देशों में इस दिन को मनाने की अलग-अलग कहानी है। जानिए कब, क्यों और कैसे हुई मदर्स डे मनाने शुरुआत ! दरअसल मदर्स डे ग्राफटन वेस्ट वर्जिनिया में एना जॉर्विस द्वारा समस्त माताओं और उनके गौरवमयी मातृत्व के लिए तथा विशेष रूप से पारिवारिक और उनके परस्पर संबंधों को सम्मान देने के लिए आरंभ किया गया था। यह दिवस अब दुनिया के हर कोने में अलग-अलग दिनों में मनाया जाता हैं। इस दिन कई देशों में विशेष अवकाश घोषित किया जाता है।

यह भी पढ़े : दुनिया के अरबपतियों में शुमार अंबानी की इकलौती बेटी ईशा बनने जा रही है इस परिवार की बहु

मदर्स डे’ से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें

  1.  ‘मदर्स डे’ मनाने की शुरुआत ग्रीस से हुई है। ग्रीस में मांओं को सम्मान देने के लिए इस दिन खास पूजा की जाती है। बताया जाता है कि स्यबेले ग्रीक देवताओं की मां थी, और उन्हें सम्मान देने के लिए मदर्स डे को त्योहार के तौर पर मनाया जाता था। मगर ग्रीस में यह त्यौहार के रूप में 18 मार्च को मनाया जाता था।
  2. मातृ दिवस, अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में कई देशों में 8 मार्च को मनाया जाता हैं लेकिन भारत में ‘मदर्स डे’ मई महीने के पहले रविवार को मनाया जाता है।
  3. चीन में, मातृ दिवस के दिन मां को उपहार के रूप में गुलनार का फूल दिया जाता है। चीन में यह दिन 1997 में गरीब माताओं की मदद के लिए शुरू किया ।     
  4. क्रिश्चियन लोग इस दिन को वर्जिन मेरी का दिन मानते हैं। इसलिए वह इस दिन उन्हें और अपनी मां को फूल और गिफ्ट्स देते हैं। इसके अलावा वह इस दिन चर्च जाकर प्रेयर करते हैं।
  5. वर्जिनिया शहर में ‘मदर्स डे’ मनाने की शुरुआत एना जार्विस ने की थी। अपनी मां से प्रेरित एना जार्विस ने कभी शादी नहीं की और न ही उनके कोई बच्चा था। अपनी मां की मृत्यु के बाद उन्होंने अपना प्यार जताने के लिए इस दिन की शुरूआत की।
  6. अमेरिका में मदर्स डे को शांति देने वाले दिन के तौर पर मनाया जाता है। अमेरिका में यह दिन 2 जून को सेलिब्रेट किया जाता है।
  7. मां को सम्मान देने के लिए यूरोप और ब्रिटेन में मदरिंग संडे मनाया जाता है, जिसे कि ‘मदरिंग संडे’ भी कहा जाता हैं। इसमें किसी खास रविवार के दिन सभी मां को सम्मान देने के लिए कुछ स्पेशल किया जाता है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *