जब तक महिलायें आर्थिक रूप से सशक्त नहीं होगीं तब तक सशक्त भारत का सपना नहीं देखा जा सकता – दीप्ति रावत बिष्ट

Featured Video Play Icon

दिनांक 05/01/20 रविवार को नव चेतना समिति,नेहरुग्राम,देहरादून कि मासिक बैठक सम्पन्न हुई।इस बैठक में जन चेतना के आगामी कार्यक्रमों पर चर्चा की गई ।सभी कार्यक्रमो के साथ मुख्य रूप से अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए विचार विमर्श किया गया।

नव चेतना समिति ,नेहरुग्राम द्वारा प्रतिवर्ष , महिला दिवस बहुत ही हर्षोल्लास से मनाया जाता है ।यह कार्यक्रम पूरे गाँव के सहयोग से सम्पन्न होता है । इस दिन विभिन्न क्षेत्रों में काम कर रहीं महिलाओं को सम्मानित करने के साथ ही वें औरों के लिए भी प्रेरणा का स्रोत बन सके ऐसा प्रयास नव चेतना समिति द्वारा किया जाता है।

यह संगठन कई वर्षों से उत्तराखंड के ग्रामीण क्षेत्रो में महिलाओं के हित में काम कर रहा है और साथ ही महिलाऐं हो या ग्रामीण सभी से जुड़े सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक और कानूनी मुद्दों पर संवेदनशीलता और सरोकार के साथ हल करने में प्रयासरत रहता है |

नव चेतना सभी स्तर पर महिलाओं में आत्मविश्वास पैदा कर उन्हें सशक्त बनाने की प्रक्रिया कई वर्षो से कार्यरत है | 

समिति की संयोजिका दीप्ति रावत बिष्ट का मानना है की जब तक महिलायें आर्थिक रूप से सशक्त नहीं होगीं तब तक सशक्त भारत का सपना नहीं देखा जा सकता | महिला शिक्षा पर उनका मानना है की जैसे ही महिलाओं को शिक्षा मिली, उनकी समझ में वृद्धि हुई। खुद को आत्मनिर्भर बनाने की सोच और इच्छा उत्पन्न हुई। शिक्षा मिल जाने से महिलाओं ने अपने पर विश्वास करना सीखा और घर के बाहर की दुनिया को जीत लेने का सपना बुन लिया और किसी हद तक पूरा भी कर लिया।

To spread the ideas of the Nav Chetna Samiti to the public, like the committee’s page.

https://www.facebook.com/nevchetnasameeti/