उत्तराखंड का लाल बसों के धक्के खाकर IPL 2018 में ही नहीं पूरे टी-20 क्रिकेट में भी हैं टॉप पर ,संघर्ष जानकर करेंगे सलाम

Uttarakhand's red buses hit by not only in IPL2018 but also in entire T-20 cricket.

उत्तराखंड के ऋषभ पंत आइपीएल में शतक जड़ने  वाले सूबे के दूसरे बल्लेबाज बन गए हैं। आइपीएल में सबसे पहले शतक जड़ने का रिकॉर्ड मनीष पांडेय के नाम है। बसों में धक्के खा-खाकर आज युवा बल्लेबाज ऋषभ पंत सफलता के मुकाम तक पहुंचे हैं। इनका संघर्ष जानकर आप ऋषभ को सलाम करेंगे।आईपीएल 2018 में गुरुवार को खेले गए सनराइजर्स हैदराबाद और दिल्ली डेयरडेविल्स के मुकाबले में ऋषभ पंत सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर बनाने वाले शीर्ष भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं।

बता दे की गुरुवार को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेले गए मैच में दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए खेलते हुए रुड़की के ऋषभ पंत ने धुआंधार पारी खेली। उन्होंने 63 गेंदों में 15 चौके और सात छक्कों की मदद से नाबाद 128 रन बनाए। आइपीएल में ऋषभ का यह पहला शतक है। सनराइजर्स हैदराबाद ने मेजबान दिल्ली डेयरडेविल्स को 9 विकेट से हरा दिया। दिल्ली डेयरडेविल्स मैच हार गई, लेकिन ऋषभ पंत अाईपीएल के इतिहास में व्यक्तिगत स्कोर बनाने वाले शीर्ष भारतीय बल्लेबाज बन गए।पंत ने नाबाद 128 रन बनाए। ओवरऑल टी-20 क्रिकेट की बात करें, तो ऋषभ पंत इस साल सबसे ज्यादा रन बनाने वालों की लिस्ट में सबसे ऊपर बरकरार हैं. 2018 में अब तक उन्होंने 23 पारियों में 45.80 की औसत से 962 रन बनाए हैं। जिसमें उनके 2 शतक और 7 अर्धशतक शामिल हैं।डार्सी शॉर्ट फिलहाल 830 रन बनाकर दूसरे नंबर पर हैं. शॉर्ट भी इन दिनों आईपीएल (राजस्थान रॉयल्स) खेल रहे हैं।

यहां हम बात कर रहे रुड़की के युवा क्रिकेटर ऋषभ पंत की। पंत का जन्म हरिद्वार में हुआ। लेकिन उनका परिवार रुड़की में रहता था। वे एक क्रिकेट मैच खेलने के लिए रुड़की से दिल्ली बस से सफर करते थे। इसके बाद वे दिल्ली शिफ्ट हुए और शिखर धवन के कोच से ट्रेनिंग लेनी शुरु कर दी। इसके बाद उन्होंने राजस्थान के लिए क्रिकेट खेलना शुरू किया। 17 साल की उम्र तक राजस्थान के लिए उन्होंने अंडर-14 और अंडर-16 लेवल तक क्रिकेट खेला। इसके बाद उन्होंने वहां से टीम छोड़ दी। और वापस दिल्ली का रुख किया। इसके बाद उन्होंने दिल्ली में रणजी डेब्यू किया।

यह भी पढ़े : दुनिया के अरबपतियों में शुमार अंबानी की इकलौती बेटी ईशा बनने जा रही है इस परिवार की बहु

आपको बता दे की  वेस्टइंडीज दौरे के लिए इनकी टीम में वापसी हुई है। अप्रैल महीने में आईपीएल-10 के दौरान उनके पिता राजेंद्र पंत की अचानक मौत हो गई थी। इस टेंशन के बावजूद उन्होंने मैच खेला। उनके चेहरे पर जरा भी शिकन नहीं थी। इसके बाद उन्होंने आईपीएल10 में इतनी शानदार बाजी जीती कि वे आज हर किसी के चहिते बने हुए हैं। इसके कारण ही उन्हें भारतीय टीम में वापसी मिली है। बताते चले की 5 से 8 नवंबर, 2016 तक खेले गए झारखंड के खिलाफ रणजी मैच में ऋषभ ने दोनों परियों में शानदार शतक ठोका था। पहली पारी में पंत ने सिर्फ 106 गेंदों का सामना करते हुए 117 रन बनाए थे, जिसमें 8 छक्के और 9 चौके शामिल थे। दूसरी पारी में भी तेज खेलते हुए ऋषभ ने सिर्फ 67 गेंदों का सामना करते हुए 135 रन बनाए, जिसमें 13 छक्के और 8 चौके शामिल थे। वहीं 19 साल की उम्र में नैनीताल के रहने वाले मनीष पांडेय ने कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए खेलते हुए शतक जड़ा था। आइपीएल में शतक जड़ने वाले वे पहले भारतीय खिलाड़ी हैं। हालांकि, इस सीजन में वे अब तक बड़ी पारी नहीं खेल पाए हैं।

2018 टी-20 में अब तक टॉप-4

1. ऋषभ पंत ( टीमें- दिल्ली, दिल्ली डेयरडेविल्स, भारत)- 962 रन, 23 पारियां

2. डार्सी शॉर्ट ( टीमें- ऑस्ट्रेलिया, होबार्ट हरिकेन, राजस्थान रॉयल्स)- 830 रन 20 पारियां

3. शेन वॉटसन ( टीमें- चेन्नई सुपर किंग्स, क्वेटा ग्लैडिएटर्स, सिडनी थंडर)- 792 रन, 26 पारियां

4. सुरेश रैना (टीमें- चेन्नई सुपर किंग्स, भारत, उत्तर प्रदेश)- 767 रन, 26 पारियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *