जिलाधिकारियों व मुख्य विकास अधिकारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम बीस सूत्री कार्यक्रम की समीक्षा

आज दिनांक 26.11.2019 को श्री नरेश बंसल जी, मा0 उपाध्यक्ष (कैबिनेट मंत्री स्तर) राज्य स्तरीय बीस सूत्री कार्यक्रम एवं कार्यान्वयन समिति की अध्यक्षता में सभी जिलाधिकारियों व मुख्य विकास अधिकारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम बीस सूत्री कार्यक्रम की रैंकिंग मदों वर्ष 2018-19 व आलोच्य वर्ष में अप्रैल-अक्टूबर 2019 की प्रगति की समीक्षा की गयी।
वर्ष 2018-19 में एन0आर0एल0एम0 के अन्तर्गत गठित स्वयं सहायता समूह तथा पी0एम0जी0एस0वाई0 के अन्तर्गत निर्मित सड़कों की मानक के अनुसार कम प्रगति होने अर्थात ‘सी’ और ‘डी’ श्रेणी वर्गीकृत होने के कारणों पर पूछे जाने पर यू0एस0आर0एल0एम0 से उपस्थित अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि भारत सरकार से लक्ष्य के अनुरूप धनराशि प्राप्त न होने के कारण प्रगति कम हुई। यद्यपि लक्ष्यों में संशोधन किया गया परन्तु भारत सरकार स्तर से संशोधित लक्ष्यों में अनुमोदन प्राप्त न हो सका। सभी जनपदों से उपस्थित जिलाधिकारियों व मुख्य विकास अधिकारियों द्वारा भी समय से स्वयं सहायता समूह न बन पाने तथा धनराशि प्राप्त न होने से अवगत कराया गया। जिस पर मा0 उपाध्यक्ष जी द्वारा आलोच्य वर्ष के लिए समय से लक्ष्य के अनुरूप विभिन्न किस्तों में धनराशि भारत सरकार से मांगे जाने पर अनुश्रवण किए जाने के निर्देश दिए गए।
गत वर्ष 2018-19 में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत जनपद टिहरी ‘सी’ उत्तरकाशी, रूद्रप्रयाग, चम्पावत व नैनीताल ‘डी’ श्रेणी में होने पर चिन्ता व्यक्त की गयी। जिस पर यू0आर0आर0डी0ए0 से उपस्थित मुख्य अभियन्ता द्वारा अवगत कराया गया कि संबन्धित वर्ष के कार्य के अन्तर्गत कच्चे व पक्के मार्गों को 2019 तक पूर्ण कराया जाना था जिसके लिए पी0एम0जी0एस0वाई0 के अन्तर्गत नये निर्माण यूनिट खोले जाने तथा तथा ब्रिडकुल, एन0एच0पी0सी0 आदि संस्थाओं को कार्य दिए गए। जिसमें टेन्डर आदि में विलम्ब होने तथा मार्ग वन अधिनियम के अन्तर्गत आने से अपेक्षाकृत उपलब्धि नहीं हो पायी। वर्ष 2019-20 में लक्षित किए गए सड़कों के लक्ष्य संशोधन के लिए जनपद चमोली, टिहरी, पौड़ी, चम्पावत व नैनीताल द्वारा लक्ष्य संशोधन किए जाने से अवगत कराते हुए मा0 उपाध्यक्ष जी द्वारा स्पष्ट निर्देश दिए गए कि ठोस औचित्यपूर्ण प्रस्ताव उपलब्ध कराया जाना अनिवार्य है तभी लक्ष्यों में संशोधन किया जा सकेगा। मुख्य अभियन्ता द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि प्रस्तावों के अनुरूप ही अर्न्तजनपदीय समायोजन किया जा सकता है क्योंकि भारत सरकार द्वारा लक्ष्य संशोधन एक बार कर दिया गया है।
एन0आर0डी0डब्ल्यू0पी0 के अन्तर्गत पेयजल निगम द्वारा निर्धारित किए गए लक्ष्यों पर चर्चा करते हुए भारत सरकार से लक्ष्य अनुमोदन कराये जाने तथा जनपद रूद्रप्रयाग, नैनीताल व हरिद्वार की कम प्रगति के कारणों पर पूछे जाने पर पेयजल निगम से उपस्थित अधीक्षण अभियन्ता श्री सुरेश चन्द्र पन्त द्वारा अवगत कराया गया कि अब एन0आर0डी0डब्ल्यू0पी0 के स्थान पर भारत सरकार द्वारा जल जीवन मिशन की गाइड लाइन प्रसारित की जानी है। इस मिशन के अर्न्तगत प्रत्येक घर को टैब वाटर से संयोजित किया जाना है। वर्तमान में 50078 घरेलू कनेक्शन का लक्ष्य भारत सरकार को प्रस्तावित किया गया है। बीस सूत्री कार्यक्रम में लक्ष्य प्रतिवेदित होने पर सघन अनुश्रवण किया जायेगा। वर्तमान में 159750 वसावटों के अन्तर्गत लगभग 246264 बसावटों में नल संयोजित है। मा0 उपाध्यक्ष जी द्वारा वर्ष के अन्तर्गत लक्षित सभी बसावटों को शामिल किए जाने के निर्देश दिए गए।
जिन जनपदों द्वारा बीस सूत्री कार्यक्रम की सूचियाँ वैबसाइट में अपलोड नहीं की जा रही है उनको तत्काल अपलोड करने के निर्देश दिए गए। गत माहों में जनपद हरिद्वार में किए गए निरीक्षण के अनुपालन आख्या उपलब्ध कराते हुए बिन्दुवार रिपोर्ट उपलब्ध कराये जाने के निर्देश भी दिए गए। जनपदों द्वारा मा0 उपाध्यक्ष जी के निरीक्षण पर टिप्पणी उपलब्ध न कराये जाने पर असंतोष व्यक्त किया गया तथा स्पष्ट निर्देश दिए गए कि आगामी बैठकों में अधिकारीगण समस्त सूचनाओं सहित प्रतिभाग करेंगे तथा जनपद भ्रमण के दौरान भी पूर्ण सूचनाओं सहित सभी अधिकारी स्थलीय निरीक्षण में प्रतिभाग करेंगे।
बैठक में मेजर योगेन्द्र यादव, अपर सचिव नियोजन, श्री सुशील कुमार निदेशक, बीस सूत्री कार्यक्रम, श्रीमती गीतांजली शर्मा गोयल, उप निदेशक, श्री जे0सी0चन्दोला, शोध अधिकारी, बीस सूत्री कार्यक्रम, श्री राजेन्द्र गोयल, मुख्य अभियन्ता, यू0आर0आर0डी0ए0 व सुरेश चन्द्र पन्त अधिशासी अभियन्ता, पेयजल निगम, श्रीमती किरन शर्मा, अपर सांख्यिकीय अधिकारी, बीस सूत्री कार्यक्रम तथा श्रीमती पूनम काण्डपाल, विशेष कार्याधिकारी, यू0एस0आर0एल0एम0 आदि उपस्थित थे।
मा0 उपाध्यक्ष जी द्वारा समाज के अन्तिम छोर तक निर्धनतम व्यक्ति को बीस सूत्री कार्यक्रम की योजनाओं का लाभ पहुँचाते हुए मा0 प्रधानमंत्री जी व मुख्यमंत्री जी की प्राथमिकता वाली योजनाओं का सतत् कार्यान्वयन किए जाने के निर्देश दिए।
अन्त में जनपदों से उपस्थित सभी जिलाधिकारियों, मुख्य विकास अधिकारी व जनपदीय अधिकारियों को धन्यवाद देते हुए बैठक का समापन किया गया।