संजलि हत्याकांड में सनसनीखेज खुलासा,भाई ही निकला हत्यारा, ऐसे दिया खौफनाक घटना को अंजाम

संजलि हत्याकांड में सनसनीखेज खुलासा,भाई ही निकला हत्यारा,

आगरा में छात्रा संजलि को जिंदा जलाए जाने की घटना का पुलिस ने सनसनीखेज  खुलासा किया है। 18 दिसंबर को स्कूल से लौट रही हाईस्कूल की छात्रा संजलि को उसके ताऊ के बेटे योगेश ने ही पेट्रोल डालकर जिंदा जलाया था। वजह थी एकतरफा प्यार। एसपी अमित पाठक ने बताया कि इस हत्याकांड का मुख्य आरोपी योगेश ने पकड़ जाने के डर से ही 20 दिसंबर को जहर खाकर खुदकुशी कर ली थी। पुलिस ने दो युवक आकाश और विजय को हिरासत में ले लिया है।

बताया जा रहा है कि संजलि को उसके तहेरे भाई योगेश ने ही जलाया था। एसएसपी अमित पाठक ने मंगलवार को प्रेसवार्ता कर घटना का खुलासा कर दिया। हालांकि परिजन इस पर यकीन नहीं कर रहे हैं। पुलिस को छानबीन में पता चला है कि योगेश शातिर किस्म का था। पहले उसने संजलि की बहन अंजलि को नौकरी लगाने का झांसा दिया। जब नौकरी नहीं लगी ति संजलि ने उसे फटकारा। फिर उसने संजलि को अपने जाल में फंलाना चाहा। उसे मॉडल बनाने का सपना दिखाया। कुछ नहीं किया। इस पर दोनों बहनें उसकी हककीत समझ गई थीं। योगेश को फटकारा था। योगेश संजलि से बेहद खफा था। वो संजलि को मॉडल बनाना चाहता था। इसके लिए एक लाख से ज्यादा रुपया खर्च किया लेकिन संजलि अपनी जिंदगी अपने तरीके से जीना चाहती थी। उसने योगेश की बातें मानने से इंकार कर दिया था। संजलि योगेश का फोन भी रिसीव नहीं करती थी। इससे योगेश चिढ़ गया था और इसी कारण उसने संजलि को जिन्दा जला दिया।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड: जिंदा जलाई गई छात्रा ने सफदरजंग अस्पताल में तोड़ा दम

विजय आगरा के सिकंदरा के कलवारी का रहने वाला है। वह योगेश के मामा का बेटा है। आकाश आगरा के शास्त्रीपुरम का है। वह विजय के भाई का साला है। पुलिस का कहना है कि इन्होंने पूछताछ में बताया कि विजय बाइक चला रहा था। योगेश पीछे बैठा था। दूसरी बाइक पर आकाश साथ में चल रहा था। पुलिस के अनुसार संजलि पर पेट्रोल योगेश ने डाला था। उसने ही लाइटर से आग लगाई थी।वह संजलि का चेहरा जलाना चाहता था। अंदाज नहीं था कि आग इतनी भड़क जाएगी कि संजलि की मौत हो जाएगी। इसलिए पकड़े जाने के ड़र से  योगेश ने पकड़ जाने के डर से ही 20 दिसंबर को जहर खाकर खुदकुशी कर ली थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *