भूकंप के झटके से सहमा उत्तराखंड ,उत्तरकाशी में था भूकंप का केंद्र

The earthquake shock was in the center of Uttarakhand, Uttarkashi.

उत्तरखंड के उत्तरकाशी में भूकंप के झटके महसूस हुए हैं। गुरुवार की सुबह करीब 6 बजे आए इस भूंकप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.0 मापी गई है। इसका केंद्र उत्तरकाशी जिले में 10 किलोमीटर की गहराई पर था। बताया जा रहा है जब भूकंप आया तो लोग सहम गये और अपने घरों से बाहर निकलने लगे। हालांकि, अभी तक इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है।

बता दें कि इससे पहले पिछले साल दिसंबर में उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में तेज भूकंप के झटके महसूस किये गये थे. उत्तराखंड के रूद्रप्रयाग में 28 दिसंबर को भूकंप का झटका महसूस किया गया। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 4.7 मापी गई थी। वहीं, उत्तराखंड में 14 और 15 जून को भारी बारिश और तेज अंधड़ का अलर्ट जारी किया है खास तौर से देहरादून, पौड़ी, नैनीताल और उधम सिंह नगर में भारी बारिश की चेतावनी है। मौसम विभाग के अनुसार राज्य मौसम विज्ञान केंद्र ने चेतावनी जारी की है कि उत्तराखंड में तेज हवाएं और अंधड़ पांच जिलों को अपनी चपेट में ले सकता है। 24 घंटे के भीतर देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, नैनीताल और ऊधमसिंह नगर जिलों में तेज अंधड़ और झक्कड़ आ सकता है। जिसकी अधिकतम गति 100 किलोमीटर प्रति घंटे भी हो सकती है। विभाग ने संभावित नुकसान की आशंका जताते हुए एहतियात बरतने की सलाह दी है
यह भी पढ़े :सावधान : उत्तराखंड में चढ़ी धूल की परत, अगले 24 घंटे में 100 किमी की रफ्तार से आ सकता है अंधड़
यह होता है रिक्टर स्केल
भूकंप कितना तीव्र है इसका अंदाज़ा रिक्टर स्केल से लगाया जाता है। यानी 6 से कम रिक्टर स्केल के भूकंप को तेज़ नहीं कहा जा सकता है क्योंकि उसमें हल्का कंपन महसूस होता है। वहीं 7 से 9 के बीच रिक्टर स्केल पर कई बार इमारतों के गिरने से लेकर समुद्री तूफान के आने तक का खतरा हो सकता है। वहीं जब भूकंप 9 से ऊपर के रिक्टर स्केल पर आता है तो अपने साथ भारी तबाही लेकर आता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *