साधारण किसान की बेटी ने भारत को दिलाया आईएएएफ में पहला गोल्ड मेडल ,रचा इतिहास

The ordinary farmer's daughter won the gold medal with the history, 'India's new flying fairy'

हौसले और कुछ करने की चाह हो तो हर मंजिल पाई जा सकती है। इस बात को सच कर दिखाया है असम के एक साधारण किसान की 18 वर्षीय बेटी एथलीट हिमा दास ने। हिमा ने फिनलैंड के टैम्पेयर शहर में इतिहास रच दिया है। हिमा ने आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप की 400 मीटर दौड़ स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीता है। यह पहली बार है कि भारत को आईएएएफ की ट्रैक स्पर्धा में गोल्ड मेडल हासिल हुआ है। उनसे पहले भारत की कोई महिला खिलाड़ी जूनियर या सीनियर किसी भी स्तर पर विश्व चैम्पियनशिप में गोल्ड नहीं जीत सकी थी। हिमा ने यह दौड़ 51.46 सेकेंड में पूरी की।

बता दे की हीमा ने मिल्खा और पीती उषा को पछाड़ते हुए देश में इतिहास रच दिया। उनकी इस उपलब्धि पर दुनिया उन्हें सलाम कर रही है। इस प्रतियोगिता में एंड्रिया मिकलोस को सिल्वर और अमरीका की टेलर मैंसन को ब्रॉन्ज मेडल मिला। आपको जानकार हैरानी होगी की दौड़ के 35वें सेकेंड तक हिमा शीर्ष तीन खिलाड़ियों में भी नहीं थीं, लेकिन बाद में उन्होंने रफ्तार पकड़ी और अपने हौसलों के साथ इतिहास बना लिया। स्पर्धा के बाद जब हिमा ने गोल्ड मेडल लिया और सामने राष्ट्रगान बजा तो उनकी आंखों से आंसू छलक पड़े। हिमा दास से पहले भारत की कोई महिला या पुरुष खिलाड़ी जूनियर या सीनियर किसी भी स्तर पर विश्व चैम्पियनशिप में गोल्ड या कोई मेडल नहीं जीत सका था।

यह भी पढ़े :कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत के लिए सुनहरा दिन, एक के बाद एक गोल्ड ,48 मेडल में जीते 21 गोल्ड मेडल

आपको बता दे की हीमा की सफलता के पीछे उनकी कड़ी मेहनत और हिम्मत है। हिमा असम के एक साधारण किसान की बेटी हैं, जो चावल की खेती करते हैं। वह बेहद साधारण परिवार से ताल्लुक रखती हैं। उन्होंने महज दो साल पहले ही रेसिंग ट्रैक पर कदम रखा था। उनके कोच निपोन दास ने बताया कि उन्हें पूरा विश्वास था कि हिमा कम से कम टॉप थ्री में जरूर शामिल होगी। 400 मीटर की रेस में उन्होंने अपनी ताकत का लोहा पूरी दुनिया में मनवाया है। साथ ही हिमा भाला फेंक के स्टार खिलाड़ी नीरज चोपड़ा की सूची में शामिल हो गई जिन्होंने 2016 में पिछली प्रतियोगिता में विश्व रिकॉर्ड प्रयास के साथ स्वर्ण पदक जीता था। वह हालांकि इस प्रतियोगिता के इतिहास में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली ट्रैक खिलाड़ी हैं। एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने भी हिमा दास को शानदार सफलता के लिए बधाई दी है। इसके साथ देश के प्रधनमंत्री सहित अनेक दिग्गज उन्हें जीत की बधाई दे रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *