शर्मनाक: नैनीताल के स्कूल में शिक्षक करता था पांचवीं की छात्राओं संग अश्लील हरकतें

The teacher used to do the obscene acts with the students

प्रदेश में बच्चियां अब स्कूलों में भी सुरक्षित नहीं है। भीमताल से शिक्षकों को शर्मशर करने वाला मामला सामने आया है। जिसे जानकर आपकी रूह कांप जाएगी। विघा के मंदिर कहे जाने वाले विघालयों में जहां बच्चियां गुरूओं से ज्ञान लेने आती है वहीं गुरू जिन्हे भगवान का रूप कहा जाता है अब हैवान बन रहे है। प्राथमिक स्कूल के एक सहायक शिक्षक की करतूत ने स्कूलों में मासूमों की सुरक्षा पर फिर सवाल खड़ा कर दिया है। शिक्षक ने अपनी  घृणित  करतूतों से सबको शर्मसार कर बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंता बढ़ा देते है।

दरअसल  राजकीय प्राथमिक विद्यालय अमिया में पढ़ाने वाले शिक्षक रवि चौधरी निवासी गुलाबघाटी पर पांचवीं कक्षा की छात्राओं ने आरोप लगाया है। उनका कहना है कि स्कूल में शिक्षक सबके सामने उनसे अश्लील हरकतें करवाता था। उनके कपड़े उतरवा देता था। इतना ही नहीं वो उनकी अश्लील फोटो भी खींचता था। इन्कार अथवा विरोध करने पर बेरहमी से पीटता था। छात्राओं ने कई बार इसकी शिकायत प्रधानाचार्य से की लेकिन आरोपित के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। वहीं एक पीडि़त बच्ची ने जब परिजनों को मामला बताकर तहरीर दर्ज करवाई तब पूरा मामला सामने आया। अधेड़ उम्र के शिक्षक द्वारा  मासूम के साथ की हरकतें जानकर परिजनों के पैरों के तले से जमीन खिसक गई। इसके बाद ग्रामीण और परिजन स्कूल पर धमक पड़े। उनका गुस्सा सातवें आसमान पर था। ग्रामीणों ने आरोपित शिक्षक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने और कई ने तो फांसी की सजा की मांग कर डाली है। बहरहाल मौके पर पहुंची पुलिस ने क मरे में शिक्षक को बंद कर उसकी जान बचाई। पुलिस ने आरोपित शिक्षक रवि चौधरी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट और धाराओं में  मुकदमा दर्ज किया है। आरोपित को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में भर्ती महिला से छेड़छाड़, विरोध करने पर हत्या का प्रयास

रो रो कर पीड़ित बच्चियों ने बताई आपबीती

वहीं उप जिलाधिकारी ने जब छात्राओं से घटना की जानकारी लेने के लिए पास बुलाया तो वे भावुक होकर रोने लगीं। उनका कहना था कि आरोपित शिक्षक आए दिन उनके साथ गंदी हरकतें करता था और विरोध करने पर बेरहमी से पीटता था। उन्होंने उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की। बता दें कि आरोपित शिक्षक  शिक्षक दिवस पर बेहतर कार्य के लिए सम्मानित हो चुका है। लेकिन उसकी इस शर्मशार हरकत ने उसकी किए धरे पर पानी फेर दिया है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *