उत्तराखंड : बैंक ऑफ इंडिया के कर्मी ने संदिग्ध परिस्थितयों में लगाई फांसी , मचा हड़कंप

Uttarakhand: Bank of India employee hanged in suspicious circumstances

उत्तराखंड़ में सनसानीखेज मामला सामने आया है।यहां धर्मनगरी हरिद्वार में बैंक ऑफ इंडिया में कार्यरत एक कर्मचारी ने एक गेस्ट हाउस में संदिग्ध परिस्थितयों में आत्महत्या कर ली। उसने पहले अपने हाथ की नस काटी और फिर फांसी के फंदे पर झूल गया। मौके पर पंहुची पुलिस को गेस्ट हाउस के कमरे से दो सुसाइड नोट मिले हैं लेकिन, इनमें मौत के लिए किसी को भी जिम्मेदार नहीं ठहराया गया है। शव को पुलिस ने कब्जे में ले लिया है। वहीं घटना से क्षेत्र में हड़कंप मच गया ।

जानकारी के अनुसार उत्तरी हरिद्वार स्थित नीलकंठ गेस्ट हाउस में तीन दिन पहले 55 वर्षीय सुनील दत्त शर्मा पुत्र रामचंद्र शर्मा निवासी मकान नंबर 2015 अर्बन स्ट्रीट, फेस टू पटियाला पंजाब ने कमरा बुक कराया था। रविवार सुबह होटल कर्मचारी चाय लेकर कमरे में पहुंचा तो अंदर का नजारा देखकर उसके पैरों तले जमींन खिसक गई। सुनील का शव पंखे से लटका हुआ था और हाथ से खून टपक रहा था। शोर होने पर गेस्ट हाउस के बाकी कर्मचारी भी आए गए और पुलिस को सूचना दी। कमरे की तलाशी लेने पर दो सुसाइड नोट बरामद हुए। लेकिन, किसी में भी आत्महत्या के कारणों का उल्लेख नहीं था। शहर कोतवाल नवीन चंद्र सेमवाल ने भी गेस्ट हाउस पहुंचकर कर्मचारियों से घटनाक्रम की जानकारी ली। गेस्ट हाउस के प्रबंधक शैलेश कुमार ने पुलिस को बताया कि सुनील दत्त शर्मा बीते 25 नवंबर को भी उनके गेस्ट हाउस में आकर ठहरे थे। वह पटियाला में बैंक आफ इंडिया में कार्यरत थे। एसपी सिटी ममता वोहरा और कोतवाल नवीन चंद्र सेमवाल ने बताया कि संभवत: परिजनों के आने पर खुदकुशी के बारे में कोई जानकारी मिल सकती है।बताया जा रहा है कि सुनील हरिद्वार में लीज पर होटल लेने की तैयारी में थे।

यह भी पढ़ेंः देहरादून में आठ दिन से लापता मैकेनिक की हत्या, जंगल में मिला क्षत-विक्षत हालात में शव

पुलिस के अनुसार माना जा रहा है कि आत्महत्या रविवार अल सुबह की गई है। पहले सुसाइड नोट में सुनील दत्त शर्मा ने लिखा है कि मैं अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रहा हूं। मेरी मौत के लिए कोई दूसरा व्यक्ति जिम्मेदार नहीं है। आगे लिखा है कि मेरी सभी चल व अचल संपत्ति पत्नी को दे दी जाए। गेस्ट हाउस प्रबंधक शैलेश ने यह जानकारी पुलिस को दी है। वहीं, सुनील ने अपने दूसरे सुसाइड नोट में गेस्ट हाउस मैनेजर को संबोधित करते हुए लिखा है कि मैंने आपको जो 20 हजार रुपये टोकन मनी दी थी, वह मेरी पत्नी को लौटा देना। नोट में यह भी लिखा है कि आपने मेरी बहुत सेवा की है, इसलिए आपका बहुत धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *