एबीवीपी और शिवाय ग्रुप आपस में भिड़े, पुलिस ने संभाला मोर्चा

ABVP and more groups interconnected, police handled Front

युवा भविष्य है, राजनीति भ्रष्ट है। राजनैतिक जीवन की पहली पाठशाला छात्र संघ चुनाव में  इस दफा छात्रों के मन में छात्रसंघ चुनाव को काफी उत्साह हैं। राजनीतिक पार्टीयों के आकाओं ने छात्रों के जीवन में एक-दूसरे के मन में नफरत का वो  बीज बोया है जो उनके जीवन में नफरत के वटवृक्ष के रुप में आकार लेगा। जहां पेड़ की जड़ नीचे जमीन में होती है वहीं राजनीति के पेड़ की जड़ें उल्टी यानि ऊपर की और अपने आका की दिशा में होती हैं।

डोईवाला स्थित शहीद दुर्गामल्ल महाविद्यालय में इसी माह छात्रसंघ  चुनाव होने जा रहे हैं। सभी छात्रसंगठनों के कार्यकर्ता छात्रसंघ चुनाव में जीत के लिए प्रचार-प्रसार में जुटे  हुए हैं। ऐसे में प्रचार का सबसे सषक्त माध्यम फेसबुक का भी सहारा छात्रनेताओं द्वारा लिया जा रहा हैं। डोईवाला काॅलेज में अपने समर्थकों के लिए वोट मांगते समय अखिल भारतीय विद्यार्थी परिशद डोईवाला के दो गुट आपस में भिड़ गए।  गौरतलब हैं कि कुछ दिन पहले अभाविप से अध्यक्ष पद की तैयारी कर रहे निशान्त मिश्रा की फोटो को फेसबुक पर डालने को लेकर षिवाय ग्रुप से परिषद में आए हिमांशु भट्ट ने अभाविप के नगर सह-मंत्री प्रवीण कृशाली को फेसबुक पर धमकी दी तथा उनके साथ काॅलेज में हाथापाई की। जो आज आक्रामक रुप में आ गई।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इससे पूर्व भी एबीवीपी द्वारा महाविद्यालय में ड्रेस कोड लागू करवाने की मांग को लेकर भी शिवाय ग्रुप द्वारा एबीवीपी का विरोध किया गया था। छात्रसंघ चुनाव में अभाविप कार्यकर्ताअों को शिवाय ग्रुप के कार्यकर्ताअों को फोन पर धमकाया जा रहा है। अभाविप से जुड़े निषान्त मिश्रा व अन्य कार्यकर्ताअों को डरा-धमकाकर छात्रसंघ चुनाव से पीछे हटने का दबाव बनाया जा रहा हैं।शिवाय ग्रुप के सभी छात्र व भारतीय जनता युवा मोर्चा के कुछ कार्यकर्ता, अभाविप कार्यकर्ताअों पर टूट पड़े। मौके पर कोतवाल डोईवाला ने घटनास्थल पर पहुँच कर भीड़ को तितर-बितर किया।और स्थिति को नियंत्रित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *