अल्मोड़ाः बच्चों ने फैब्रिक पेंटिंग में दिखाई कला, बनाए आकर्षक डिजाईन

Almora: Children show art in Fabric painting, made attractive design

अल्मोड़ा के राजकीय प्राथमिक विद्यालय बजेला धौलादेवी के बच्चों को फैब्रिक पेंटिंग का कार्य करवाया गया ,बच्चों की रचनात्मक को बढ़ावा देने के लिए यह कार्य काफी मददगार साबित रहा बच्चों ने जितना अधिक रंगों के साथ क्रियाकलाप किया अंत मे उतना ही बेहतर परिणाम दिया। वैसे भी सर्वविदित है कि कला चाहे कोई भी हो उससे आप कलाकार के अंतरमन को जान सकते है , उसके रंगों का चुनाव , चित्रों की गंभीरता इत्यादि इत्यादि… उसके बारे मे बहुत कुछ बता सकती है, शिक्षण मे मौलिकता एक ऐसी रणनीति है जिसमें विद्यार्थी के पूर्व ज्ञान, आस्थाओं और कौशल का इस्तेमाल किया जाता है।

यह भी पढ़ेंः अल्मोड़ा के नन्हें-नन्हें बच्चों ने बनाई समाज की सच्चाई को बयां करती दिल को छू जाने वाली कॉमिक

रचनात्मक रणनीति के माध्यम से विद्यार्थी अपने पूर्व ज्ञान और सूचना के आधार पर नई किस्म की समझ विकसित करता है। इस प्रक्रिया पर काम करने वाला शिक्षक प्रश्न उठाता है और विद्यार्थियों के जवाब तलाशने की प्रक्रिया का निरीक्षण करता है, उन्हें निर्देशित करता है तथा सोचने-समझने के नए तरीकों का सूत्रपात करता है।

कच्चे आंकड़ों, प्राथमिक स्रोतों और संवादात्मक सामग्री के साथ काम करते हुए रचनात्मक शैली का शिक्षक, छात्रों को कहता है कि वे अपने जुटाए आंकड़ों पर काम करें और खुद की तलाश को निर्देशित करने का काम करें। धीरे-धीरे छात्र यह समझने लगता है कि शिक्षण एक प्रक्रिया है जिससे उसे उसके प्रश्नों के उत्तर मिलेंगे और अपने विचारों , मन मे चल रही उथल पुथल को प्रकट करने का मौका देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *