उत्तराखंड में वर्ष 2018-19 रोजगार वर्ष घोषित ,युवा हो जाए तैयार ,सरकारी नौकरियों की होगी बरसात

Announced year 2018-19 employment year in Uttarakhand,

रोजगार के नए मौके मिलने का इंतजार कर रहे प्रदेश के युवाओं की मुराद इस वर्ष पूरी होने जा रही है। नौकरियों की झमाझम बरसात होगी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने चालू वित्तीय वर्ष 2018-19 को रोजगार वर्ष के तौर पर मनाने का निर्णय लिया है।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, शुक्रवार 27 अप्रैल 2018 को अपराह्न 04 बजे समस्त विभागों द्वारा रोजगार, स्वरोजगार सृजन एवं कौशल विकास हेतु किये जा रहे कार्यों की समीक्षा करेंगे।यह जानकारी देते हुए सचिव मुख्यमंत्री राधिका झा ने बताया है कि प्रदेश में वर्ष 2018-19 को रोजगार वर्ष के रूप में मनाये जाने का निर्णय लिया गया है। इसके अन्तर्गत प्रदेश के युवाओं का कौशल विकास करते हुए रोजगार/स्वरोजगार के अवसर प्रदान किया जाना है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार सभी अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव एवं सचिव/सचिव(प्रभारी), समीक्षा बैठक में समस्त संगत सूचनाओं सहित प्रतिभाग करेंगे।

शासन के सभी आला अधिकारियों को महकमों में रिक्त पदों के साथ ही स्वरोजगार के अवसरों से संबंधित सूचनाएं देने को कहा गया है। माना जा रहा है कि इस वित्तीय वर्ष में 554 करोड़ के उद्यमों के स्थापित होने से 500 लोगों को रोजगार के मौके मिलेंगे। इसके साथ ही सरकार की ओर से सरकारी महकमों में जरूरत के सभी पदों को भरने की कवायद भी चल रही है। गौरतलब है कि बीते मार्च माह में गैरसैंण में पारित वित्तीय वर्ष 2018-19 के बजट में रोजगार के नए अवसर मुहैया कराने का संकल्प जताया गया है। राज्य में पूंजी निवेश को बढ़ावा देने को देशी-विदेशी उद्यमियों को आकर्षित किया जा रहा है। बता दे की इस वर्ष सरकार की योजना 6.14 लाख लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मुहैया कराने की है। सहकारिता और उद्यान के क्षेत्र में सर्वाधिक 3.70 लाख लोगों को रोजगार के अवसर देने पर जोर दिया जा रहा है। विभिन्न विभागों में लगभग 6500 रिक्तियां जारी की जा चुकी हैं। वर्ष 2017-18 में 2500 पदों पर नियुक्तियां की गईं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *