देहरादून में बेटी की कोख में हत्या कर रहे नामी डॉक्टर को रंगे हाथ पकड़ा

fetus testing

 देहरादून: जहां एक ओर सरकार बेटी बचाओं बेटी पढ़ो अभियान तेज कर रही है। अभियान के लिए ब्रांड अम्बेस्डर बना रही है , वही प्रदेश की राजधानी में सरकार की नाक के नीचे बेटियों को जन्म से पूर्व ही मौत के घाट उतारा जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग को इसकी कोई खबर तक नहीं है। देहरादून के आराघर स्थित त्यागी डायग्नोस्टिक सेंटर पर सीएमओ अंबाला (हरियाणा) की अगुवाई में आई टीम ने छापा मार नामी डॉक्टर को रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। टीम ने डॉक्टर के अलावा तीन अन्य लोगों को भी पकड़ा गया है। इस डायग्योस्टिक सेंटर का नेटवर्क कई राज्यों तक फैला था।

दरअसल सीएमओ अंबाला डॉ.विनोद गुप्ता को गोपनीय रूप से देहरादून के आराघर स्थित त्यागी डायग्नोस्टिक सेंटर में भ्रूण की लिंग जांच होने की जानकारी देने के साथ राज्य के अधिकारीयों को साक्ष्य भी उपलब्ध कराए थे। उन्हें बताया गया था कि हरियाणा के नारायणगढ़ और एक अन्य जगह से दो जोड़े डॉ.त्यागी के पास बृहस्पतिवार को लिंग परीक्षण कराने जा रहे हैं। जिसके बाद उन्होंने राज्य के आला अफसरों को विश्वास में लेकर सीएमओ अंबाला ने लिंग जांच के इस रैकेट को दबोचने की योजना तैयार की। सीएमओ ने अपने एक कर्मचारी को केमिकल लगे 22 हजार रुपये के नोट दिए थे।

इसके बाद टीम ने योजनाबद्ध तरीके से दो गर्भवती महिलाओं को डायग्नोस्टिक सेंटर भेजा। नारायणगढ़ से आई महिला का अल्ट्रासाउंड कर सेंटर की ओर से भ्रूण का लिंग बताया गया। इसके एवज में 16 हजार रुपये की फीस ली गई। इसके एवज में सेंटर ने 16 हजार रुपये लिए। इशारा मिलते ही टीम ने ट्रैप कर लिया। 22 हजार रुपये में से 16 हजार रुपये सेंटर के कर्मचारी राजेंद्र सिंह के पास से बरामद हो गए। इसके बाद दून के सीएमओ को प्रकरण की सूचना दी गई। सूचना मिलते ही एसडीएम सदर प्रत्युष सिंह के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची।

यह भी पढ़े :अनुकृति गुसाईं ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान को करेंगी प्रोमोट, बनीं ब्रांड एंबेसडर
उप जिलाधिकारी सदर प्रत्युष सिंह ने कहा कि टीम ने संचालक डॉ.प्रमोद त्यागी को मौके पर रंगे हाथ पकड़ते हुए सारे दस्तावेजों के साथ ही अनाधिकृत अल्ट्रासाउंड मशीन और पोर्टेबल मशीन को सीज कर दिया है।। डालनवाला पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर अंबाला निवासी दो दलाल करम पाल और हरीश शर्मा समेत सेंटर के कर्मचारी अल्मोड़ा के चैसली गांव निवासी राजेन्द्र सिंह को गिरफ्तार कर लिया।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *