14 जून को मनाया जाता है विश्व रक्तदाता दिवस, आप भी बचा सकते है किसी की ज़िन्दगी

Celebrated on June 14, World Blood Donor Day, you can also save someone's life

हर वर्ष 14 जून को विश्व रक्तदान दिवस मनाया जाता है विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इस दिन को रक्तदान दिवस के रूप में घोषित किया गया है। इस दिवस की शुरुवात वर्ष 2004 से सुरक्षित रक्त रक्त उत्पादों की आवश्यकता के बारे में जागरूकता बढ़ाना और रक्तदाताओं के सुरक्षित जीवन रक्षक रक्त के दान करने के लिए प्रोत्साहित करते हुए आभार व्यक्त करने के लिए की गई थी।

रक्तदान जीवनदान है। इस बात का अहसास हमें तब होता है जब हमारा कोई अपना खून के लिए जिंदगी और मौत के बीच जूझता है। हमारे द्वारा किया गया रक्तदान कई जिंदगियों को बचाता है। सबसे अच्छी बात यह है कि रक्त देने से जरूरत मंद लोगों को जीवन दान मिलता है, बल्कि रक्तदाता को स्वास्थ्य लाभ भी प्राप्त होते हैं। किसी रक्त दाता से रक्त प्राप्त करने के दो मुख्य तरीके हैं। अपरिवर्तित रक्त के रूप में सीधे शिरा से ज्यादातर रक्त ले लिया जाता है। आम तौर पर इस रक्त को अलग भागों में, ज्यादातर लाल रक्त कोशिकाओं और प्लाज्मा में विभाजित किया जाता है, क्योंकि अधिक से अधिक प्राप्तकर्ताओं को केवल एक घटक विशेष की जरूरत होती है। अन्य तरीका दाता से रक्त लेने का है, इसमें एक अपकेंद्रित्र (सेंट्रफ्यूज) या एक फिल्टर का उपयोग कर इसे अलग कर वांक्षित हिस्सों को संचित कर लिया जाता है और बाकी दाता को वापस दे दिया जाता है। यह प्रक्रिया अफेरेसिस (apheresis) कहलाती है और अक्सर यह काम इसके लिए विशेष रूप से तैयार मशीन के जरिए किया जाता है।
यह भी पढ़े :विश्व ब्रेन ट्यूमर दिवस आज , ब्रेन ट्यूमर के खतरे को ऐसे पहचानें

रक्त आधान का पुराना तरीका
वहीं दूसरी और सीधे रक्त आधान के लिए शिरा का उपयोग किया जाता है, लेकिन बदले में रक्त धमनी से लिया जा सकता है। इस मामले में, रक्त संचित नहीं किया जाता है, बल्कि दाता से सीधे प्राप्तकर्ता में पंप कर दिया जाता है। रक्त आधान का यह पुराना तरीका है और आज के समय में शायद ही कभी इसका इस्तेमाल किया जाता है। रसद और घायल सैनिकों का इलाज करके लौटे डॉक्टर जब नागरिक जीवन में लौट जाते हैं तब संचित रक्त के लिए बैंक की स्थापना की समस्या के कारण द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान चरणबद्ध रूप से इसे बंद कर दिया गया।
रक्‍त दान यहां करें
किसी भी लाईसेन्‍स युक्‍त ब्‍लड बैंक में किया जा सकता है। यह सुविधा सभी जिला-चिकित्‍सालयों में भी उपलब्‍ध है। राज्‍य के सरकारी 43 एवं निजी क्षेत्र में 18 ब्‍लड बैंक लाईसेन्‍स युक्‍त है। इसके अलावा मान्‍यता प्राइज़ एजेन्सियों जैसे रोटरी क्‍लब, लायंस क्‍लब आदि द्वारा समय-समय पर रक्‍तदान शिविरों का आयोजन किया जाता है। इनमें से किसी भी अधिकृत सील पर आप स्‍वैच्‍छा से निश्चित होकर रक्‍तदान कर सकते हैं।

यह लोग कर सकता है रक्तदान :

  • कोई भी स्वस्थ व्यक्ति जिसकी आयु 18 से 68 वर्ष के बीच हो।
  • जिसका वजन 45 किलोग्राम से अधिक हो।
  • जिसके रक्त में हिमोग्लोबिन का प्रतिशत 12 प्रतिशत से अधिक हो।

ये नहीं करें रक्तदान :

  • महावारी के दौर से गुजर रही महिला।
  • बच्चों को स्तनपान कराने वाली महिला।
  • अगर आप कैंसर के मरीज़ हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *