उत्तराखंड संस्कृत विश्विद्यालय में छात्र की मौत , छात्र संघ ने दी आंदोलन की चेतवानी

uttarakhand sanskrit university

हरिद्वार : प्रदेश के प्रसिद्ध उत्तराखंड संस्कृत विवि के छात्र की मृत्यु के बाद छात्र संघ में राज्य सरकार के विरुद्ध रोष है। उन्होंने मृत्यु के लिए विश्विद्यालय प्रशासन को जिम्मेदार बताया है। इसके साथ ही उन्होंने छात्र के परिजनों के लिए मुआवजे की मांग की है। घटना के विरोध में छात्र संघ ने राज्य सरकार को होने वाली परीक्षाओं का बहिष्कार करने और आंदोलन करने की चेतवानी दी है।

दरअसल चमोली निवासी अनिरुद्ध नारायण मिश्रा की मौत हो गई। अनिरुद्ध उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय में ज्योतिष द्वितीय वर्ष का छात्र था।अनिरुद्ध की मौत के लिए विश्विद्यालय के छात्र संघ पदाधिकारियों ने विश्विद्यालय प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया है। छात्र पदाधिकारियों का कहना है कि यदि विवि में छात्रावास होता तो अनिरुद्ध को सही समय पर उपचार मिल जाता। छात्र के किराये पर रहने के कारण उसे सही समय पर उपचार नहीं मिला और उसकी मृत्युं हो गई। छात्रों ने मृतक के परिजनों को दस लाख का मुआवजा देने की मांग की। मांग पूरी न होने पर छात्रों ने 16 जनवरी से होने वाली सेमेस्टर परीक्षाओं के बहिष्कार और राज्य सरकार के खिलाफ आंदोलन की चेतावनी भी दी है।

छात्र संघ अध्यक्ष रविंद्र नौटियाल ने बताया कि विवि के छात्र बीते कई वर्षों से विवि में अधूरे पड़े छात्रावास को बनाने की मांग करते आ रहे हैं।छात्रों का कहना है कि विवि में छात्रावास की सुविधा न होने पर अनिरुद्ध नारायण मिश्रा जटवाडा पुल स्थित एक कालोनी में किराये के कमरे में रह रहा था। यदि विवि का छात्रावास होता तो वह किराये के कमरे पर रहने को मजबूर न होता और सही समय पर उसे उपचार मिल जाता।उन्होंने यह भी कहा की राज्य सरकार और विश्वविद्यालय प्रशासन छात्रों की मूलभूत सुविधाओं पर भी कोई ध्यान नहीं दे रहा है।
यह भी पढ़े:आत्महत्या की चेतावनियों ने बढ़ाई सरकार की परेशानियां!

जानकारी के अनुसार ज्योतिष द्वितीय वर्ष का छात्र अनिरुद्ध नारायण मिश्रा जडवाड़ा पुल के पास स्थित एक कालोनी में किराये के कमरे पर रहता था। कुछ समय से वह बीमार था। मंगलवार रात को उसकी मौत हो गई। छात्र की मौत की खबर मिलते ही विवि में शोक की लहर दौड़ गई। छात्र संघ अध्यक्ष रविंद्र नौटियाल, छात्र नेता विकास जोशी, धीरज सिंह सहित बड़ी संख्या में छात्र उसके कमरे पहुंचे।वहीं विवि कुलपति प्रो. पीयूषकांत दीक्षित और कुलसचिव गिरीश कुमार अवस्थी भी शिक्षक व कर्मचारियों के साथ अनिरुद्ध के कमरे पर पहुंचे। कुलसचिव ने बताया कि छात्रावास के निर्माण को लेकर शासन स्तर तेजी से कार्य किया जा रहा है। साथ ही मृतक छात्र के परिजनों के लिए जो भी मदद संभव होगी वह की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *