दून की बेटियों ने किया देश में उत्तराखण्ड का नाम रोशन

Doon's daughters did the illumination of Uttarakhand in the country.

आईसीएससी व आइएससी की परीक्षाओं में एक बार फिर बेटियों का जलवा रहा हैं। दून की बेटियों ने देश में उत्तराखण्ड का नाम रोशन किया है। इन्हीं होनहार बेटियों में एक नाम शताक्षी नैथानी का भी जुड़ गया है। जिसने आईसीएससी बोर्ड की 10वीं की परीक्षा में 98 प्रतिशत अंक हासिल कर अपने स्कूल व माता-पिता का नाम रोशन किया है।

शताक्षी नैथानी ब्राइटलैंड स्कूल में कक्षा 10वीं की छात्रा है। शताक्षी की माता डाॅ0 प्रतिभा ग्राफिक ऐरा विश्वविद्यालय में विभागाध्यक्ष है और आईआईटी रूड़की व अमेरिका के शिकागो इलिनाय विश्वविद्यालय की छात्रा रही है। शताक्षी के पिता डाॅ0 राजेश नैथानी मुख्यमंत्री के सलाहकार रह चुके हैं। भारत आने से पूर्व वे अमेरिका में कैंसर क्षेत्र में वैज्ञानिक रह चुके हैं।शताक्षी अपनी माता की तरह उच्च शिक्षा हेतु अमेरिका जाना चाहती है। शताक्षी के माता-पिता ने कहा कि वे अपनी बेटी की सफलता से बहुत खुश हैं। इस मौके पर डाॅ0 राजेश नैथानी ने कहा की शताक्षी शुरू से ही पढ़ाई के लिए काफी मेहनत करती है जिसका फल उसे आज मिला और वो 98 प्रतिशत अंक लाने में कामयाब रही। शताक्षी ने गणित सहित अन्य विषयों में भी सौ नंबर प्राप्त किए हैं। शताक्षी को उनकी उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए पूर्व मुख्यमंत्री एवंम संसदीय समिति के अध्यक्ष डाॅ0 रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने बधाई दी

यह भी पढ़े :देवभूमि में चाय बेचने वाले का बेटा बना टॉपर, कायम की मिसाल

इन्ही होनहार बेटियों में एक और नाम रिद्धिमा जुयाल का है जिसने आईसीएससी बोर्ड की 10वीं की परीक्षा में 95 प्रतिशत अंक लाकर स्कूल में टॉप किया है। रिद्धिमा जुयाल द हैरिटेज स्कूल में कक्षा 10वीं की छात्रा है। इनके पिताजी राजेश जुयाल एक व्यापारी हैं और माता रत्ना जुयाल जो कि उत्तराखंड यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर हैं अपनी बेटी की सफलता से बहुत खुश हैं। इस मौके पर उन्होंने बताया कि 10वीं की बोर्ड परीक्षा होने के कारण रिद्धिमा शुरू से ही अपनी पढ़ाई को लेकर गंभीर थी, जिसकी कड़ी मेहनत का फल आज उसको मिला और वो काफी अच्छे मार्क्स लाने में कामयाब हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *