दुनिया के सबसे असरदार युवाओं की लिस्ट में इन तीन महिलाओं सहित चार भारतीय शामिल

Four Indians, including these three women in the list of the world's most influential youth

फॉर्चून मैग्जीन ने दुनिया के 40 सबसे प्रतिभाशाली और प्रेरणादायक युवाओं की लिस्ट जारी की है। जिसमे चार भारतियों ने अपनी जगह बनाई है। बता दे की इन चार में से तीन महिलाएं हैं ,लिस्ट में पहले पायदान पर फेसबुक फाउंडर मार्क जुकरबर्ग और इंस्टाग्राम के उपसंस्थापक केविन सिस्ट्रोम शामिल हुए हैं। दोनों के बीच टाई हुआ है।

आपको बता दे की फॉर्च्यून की व्यवसाय के क्षेत्र में 40 सबसे प्रभावशाली और प्रेरणादायक युवाओं की सूची में वह लोग हैं जिनकी उम्र 40 साल से कम है। इसमें यूएस की सबसे बड़ी ऑटो कंपनी जनरल मोटर्स की दिव्या सूर्यदेवरा चौथे स्थान पर बनी हुई हैं। उनके बाद लिस्ट में वीमियो सीईओ अंजली सूद (14), रॉबिनहुड के उपसंस्थापक बैजू भट्ट (24) और फीमेल फाउंडर्स फंड की फाउंड‍िंग पार्टनर अनु दुग्गल (32) शामिल है। इंस्टाग्राम के सह-संस्थापक और सीईओ केविन सिस्ट्रॉम (34) और फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग (34) के बीच पहले पायदान के लिये मुकाबला बराबरी का रहा। फॉर्च्यून की ’40 अंडर 40′ सूची में दोनों को पहले स्थान पर रखा गया है। फॉर्च्यून की ‘लिजर 40 अंडर 40 लिस्ट’ में करंसी एक्सचेंज और रेमिटेंस नेटवर्क कंपनी रिप्पल के आश‍िष बिड़ला ने जगह बनाई है। इसके अलावा कॉनइबेस के चीफ टेक्नोलॉजी ऑफ‍िसर बालाजी श्रीन‍िवासन, एमआईटी डिजिटल करंसी की नेहा नरूला और कॉइनबेस की उपाध्यक्ष टीना भटनागर को भी लिस्ट में शामिल है।
इसलिए हुआ इनका नाम शामिल

दिव्या सूर्यदेवरा : अमेरिका की सबसे बड़ी ऑटोमोटिव कंपनी जनरल मोटर्स की चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर दिव्या सूर्यदेवरा फॉर्चून की लिस्ट में चौथे नंबर पर हैं। 39 साल की दिव्या जनरल मोटर्स समेत दुनिया की किसी भी ऑटोमोबाइल कंपनी की पहली महिला सीएफओ हैं।

अंजलि सूद: फॉर्चून की लिस्ट में वीडियो शेयरिंग वेबसाइट वीमियो की चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर अंजलि सूद लिस्ट में 14वें नंबर पर हैं। अंजलि 2014 में वीमियो से मार्केटिंग हेड के रूप में जुड़ी थीं। उन्हें पिछले साल सीईओ बनाया गया था। अब वे वीमियो को क्लाउड बेस्ड प्रोग्राम बनाने की कोशिश में हैं। इसमें वीडियो बनाने, शेयर करने और उससे यूट्यूब की तरह पैसे कमाने की सुविधा भी होगी।

बैजू भट्‌ट : बैजू भट्‌ट रॉबिनहुड के को-फाउंडर और को-सीईओ है। यह फॉर्चून की लिस्ट में 24वें नंबर पर हैं। वित्तीय सेवाएं देने वाली कंपनी रॉबिनहुड की स्थापना बैजू भट्‌ट ने तब की थी, जब वे 28 साल के थे। 5 साल बाद उनकी कंपनी की कीमत 5.6 बिलियन डॉलर आंकी गई। इस साल उनकी कंपनी ने बिटकॉइन जैसी अन्य क्रिप्टोकरंसी में भी काम शुरू कर दिया। बैजू 33 साल के हैं।

अनु दुग्गल: फीमेल फाउंडर्स फंड की फाउंडिंग पार्टनर अनु दुग्गल (32वें नंबर) पर हैं। 39 साल की अनु ने महिलाओं के नेतृत्व वाली टेक कंपनियों में निवेश करने के लिए 2014 में यह फंड शुरू किया था। शुरुआत में उन्होंने 50 लाख डॉलर जुटाए। इस साल मई तक उन्होंने 2.7 करोड़ डॉलर इकट्‌ठे किए। उन्हें फंड देने वालों में मिलिंडा गेट्स भी शामिल हैं।
आपको बताते चले की फॉर्च्यून ने श्रीदेवरा को लेकर कहा कि उन्होंने तब इतिहास रचा था, जब उनके जनरल मोटर्स की पहली फीमेल सीएफओ बनने की घोषणा हुई थी। इसके बाद फॉर्च्यून 500 में शामिल ऑटो कंपनियों में से ऐसा करने वाली यह पहली कंपनी बनी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *