गैरसैण : बजट सत्र की हंगामेदार शुरुआत ,अभिभाषण के बाद तीन बजे तक सदन स्थगित

Unconscious: Budget session begins in a ruckus, governor reads budget speech

उत्तराखडं में राज्य बनने के बाद आज पहली बार गैरसैण (भराड़ीसैंण) विधानसभा में इतिहास रचते हुए राज्यपाल के बजट अभिभाषण के साथ बजट सत्र का आगाज हुआ है। आगामी वित्तीय वर्ष का बजट वित्त मंत्री प्रकाश पंत 22 मार्च को सदन में पेश करेंगे। राज्यपाल का अभिभाषण शुरू होते ही विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। राजधानी की मांग को लेकर विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया। पूरे अभिभाषण के दौरान भी हंगामा जारी रहा।अभिभाषण के बाद कांग्रेस के हंगामे के चलते स्पीकर ने सदन को तीन बजे तक स्थगित कर दिया।

विधानसभा सत्र में शामिल होने के लिए राज्यपाल केके पॉल के विधानसभा भराड़ीसैंण पहुंचने पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल ने पुष्प गुच्छ देकर उनका स्वागत किया।अभिभाषण के दौरान स्थायी राजधानी को लेकर कांग्रेसी विधायकों ने हंगामा किया। कांग्रेसी विधायक नारेबाजी करते हुए बेल पर चले गए। वहीं धरने पर बैठ गए। इस बीच शोरशराबे के दौरान ही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत लिखित पुस्तक मनसा वाचा कर्मणा उत्तराखंड उत्कर्ष का राज्यपाल डॉ केके पाल ने विमोचन किया।अपने अभिभाषण में राज्यपाल ने सरकार की उपलब्धियां गिनवाई।गैरसैंण विधानसभा बजट सत्र राज्यपाल के अभिभाषण में 35 बिंदुओं पर फोकस किया गया। अभिभाषण में गैरसैंण को प्राथमिकता दी गई। भराड़ीसैंण गैरसैँण में मिनी सचिवालय के निर्माण के लिए 67.50 एकड़ भूमि हस्तान्तरित की कार्यवाही में तेजी लाने का जिक्र किया गया।

यह भी पढ़े : उत्तराखंड का विधानसभा बजट सत्र इस बार होगा गैरसैण में आयोजित

राज्यपाल ने कहा कि उर्दू अकादमी एवं पंजाबी अकादमी द्वारा उत्कृष्ट पुरस्कार योजना सरकार संचालित कर रही है। विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत लगभग 11 सौ हेक्टेयर क्षेत्रफल में फलदार वृक्षों का वृक्षारोपण,  छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत अल्पसंख्यक समुदाय के ऐसे सभी छात्र छात्राओं को छात्रवृत्ति देने की व्यवस्था भी की गई। अवस्थापना सुविधाओं का सृजन एवं खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए सरकार कई योजनाओं का संचालन कर रही है। सांस्कृतिक धरोहर एवं संरक्षण संवर्धन तथा सर्वांगीण विकास के लिए नृत्य नाटक एवं लोक संगीत आदि का विकास और उनका प्रचार-प्रसार राज्य के परियोजनाओं कार्यों के अनुश्रवण के लिए मुख्यमंत्री डैशबोर्ड के तहत समस्याओं का त्वरित निस्तारण किया जा रहा है।

आपको बता दे की मंगलवार की सुबह विधानसभा जाते आंदोलनकारियों को दिवलीखाल में पुलिस द्वारा रोका गया। जिस कारण नैनीताल हाईवे पर लंबा जाम लग गया। जाम में कई विधायक व मीडिया कर्मी फंस गए। जिसके बाद यूकेडी के प्रदर्शनकारी दिवलीखाल में ही धरने पर बैठ गए। सवा किमी. पैदल चलकर विधानसभा पहुंचे विधायक चैंपियन कुंवर प्रणव सिंह।वहीं,मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों के साथ देर शाम गैरसैंण पहुंच गए थे। विधानसभा के समक्ष राज्यपाल को गार्ड आफ ऑनर भी दिया गया। वहीं अपनी मांगो को लेकर गैरसैण पहुंच रहे प्रदर्शनकारियों से निपटने के लिए कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। चप्पे-चप्पे पर पुलिस और होमगार्ड कर्मियों को तैनात किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *