उत्तराखंड़ में बारिश से अचानक धंसी सड़क, खाई में गिरता यात्रियों से भरा वाहन हवा में लटका

In the Uttarakhand, suddenly a dusty road from the rainIn the Uttarakhand, suddenly a dusty road from the rain

उत्तराखंड़ के बागेश्वर में आज सुबह एक ऐसा चमत्कार हुआ जिसने छह यात्रियों की जान बचा दी। दरअसल आज सुबह एक बोलेरो वाहन कपकोट से खरकिया जा रहा था। इसी दौरान बारिश के कारण रास्‍ते में अचानक सड़क धंस गई। वाहन खाई की ओर जाने लगा, तभी चमत्‍कार हुआ। वाहन पत्‍थर से अटक गया और आधा हवा में लटक गया। इससे वाहन में सवार छह लोगों की सांसें अटक गईं। किसी तरह सभी को सुरक्षित निकाला गया।

जानकारी के अनुसार शनिवार को खरकिया नामक स्थान के पास कपूर से कर्मी को छह यात्रियों को लेकर एक बोलेरो वाहन गुजर रही था। इसी दौरान खरकिया के पास पहुंचने पर अचानक सड़क धंस गई। जिससे वाहन खाई की ओर जाने लगी, लेकिन तभी चमत्‍कार हुआ और वाहन पत्‍थर पर अटक गया। वाहन में बैठे छह यात्रियों को जैसे तैसे सुरक्षित निकाला गया। इसके बाद जेसीबी बुलाकर गाड़ी को निकाला गया। गौरतलब है कि जिले का कपकोट क्षेत्र आपदा की दृष्टि से बेहद संवेदनशील है। यहां कपकोट कर कर्मी मोटर मार्ग लंबे समय से बंद है। यहां के क्षेत्रवासियों ने मोटर मार्ग को सुचारू करने के लिए जिलाधिकारी कार्यालय में भी प्रदर्शन किया था। जगह जगह मार्ग पर मलबा आया है, जिससे यात्रियों को हमेशा खतरा रहता है। ऐसा ही कुछ देखने को मिला।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड़ सहित 21 राज्यों में तीन दिन भारी बारिश का अलर्ट: केरल में बारिश-भूस्खलन से तबाही, 26 की मौत

बता दें की चार धाम मार्गों समेत सड़कों पर मलबा आने से यातायात बाधित हो रहा है। प्रदेश में 184 संपर्क मार्गों पर आवाजाही नहीं हो पा रही है। हालांकि बदरीनाथ, केदारनाथ और गंगोत्री हाईवे पर आवागमन जारी है, लेकिन भूस्खलन से इसमें अवरोध आ रहा है। वही यमुनोत्री के निकट जंगलचट्टी में हाईवे का एक बड़ा हिस्सा बह जाने के कारण यात्री जान दांव पर लगा रस्सी के सहारे उस भाग को पार कर रहे हैं। नदियों का उफान चढ़ता जलस्तर दहशत पैदा कर रहा है और सड़कें बंद होने से सात सौ से ज्यादा गांव अलग-थलग पड़ चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *