भारतीय वायु सेना के अफसर ने किया शर्मनाक काम , देश के लिए बड़ा खतरा

Indian Air Force officer has done shameful work, a big threat to the country

भारतीय वायु सेना के अफसर ने ऐसा शर्मनाक काम किया है जिससे देश के लिए बड़ा खतरा पैदा हो गया है। सेना की खुफिया जानकारी को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई को लीक करने के मामले में दिल्ली पुलिस ने भारतीय वायुसेना के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह को गिरफ्तार किया है। उन्हें वायुसेना के गुप्त दस्तावेजों की तस्वीर अपने फोन से क्लिक करके वाट्सऐप के जरिए भेजने का आरोप है।

बताया जा रहा है कि कुछ महीने पहले ISI के एक एजेंट ने लड़की बनकर अरुण मारवाह से संपर्क किया था। भ्रम में फंसे अरुण मारवाह खूबसूरत लड़की की आवाज पर ही दीवाने हो गए। इसके बाद दोनों में फोन पर लगातार चैटिंग होने लगी। यह भी बताया जा रहा है कि चैटिंग के दौरान अरुण मारवाह उस ‘लड़की’ से अश्लील बात भी करते थे। मारवाह को आईएसआई ने फेसबुक के जरिए हनीट्रैप के जाल में दिसंबर के मध्य में फंसाया था। मॉडल के तौर पर खुद को दिखाकर आईएसआई उनसे बात करता था। एक हफ्ते तक उत्तेजनात्मक बातचीत के बाद उन्हें वायुसेना से संबंधित दस्तावेजों को साझा करने के लिए कहा गया। अभी तक पुलिस को पैसों के बदले सूचना देने का कोई सबूत नहीं मिला है और उनका कहना है कि मारवाह अंतरंग बातों के बदले जानकारियां साझा किया करता था। मारवाह द्वारा पाक खुफिया एजेंसियों को जो दस्तावेज मुहैया करवाए गए थे उनमें ट्रेनिंग और युद्ध से संबंधित अभ्यास शामिल हैं।

आपको बता दे की भारत-पाक सीमा पर देश के बहादुर सैनिकों के हाथों बार-बार शिकस्त खा रहा पाकिस्तान अब खूबसूरत युवतियों के सहारे भारत पर फतह करने के सपने पाल रहा है। पाक की खुफिया एजेंसी ISI अक्सर ऑपरेशन विषकन्या के जरिये भारतीय सैनिकों में घुसपैठ कर गुप्त सूचना जुटाने का प्रयास करती है। कभी-कभी इसमें उसे कामयाबी भी मिल जाती है। ताजा मामले में दुश्मन देश पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलीजेंस (ISI) के जाल में फंसे दिल्ली एयरफोर्स के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह (51) ने गोपनीय दस्तावेज भी मुहैया करा दिए हैं। ISI पहले भी ऐसा करती रही है।

यह भी पढ़े:गढ़वाल राइफल्स पर हुई FIR में मेजर आदित्य के पिता ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा

जानकारी के अनुसार दिए गए दस्तावेजों में ट्रेनिंग और युद्ध संबंधी तैयारियों की जानकारियां भी शामिल हैं। सूत्रों के मुताबिक, मारवाह द्वारा आईएसआई को भेजे गए दस्तावेजों में गगन शक्ति नाम से किए गए कॉम्बैट एक्सरसाइज से जुड़ी जानकारियां भी शामिल हैं। कुछ हफ्ते पहले ही एयरफोर्स के वरिष्ठ अधिकारी को इसकी भनक लगी तो उन्होंने मारवाह के खिलाफ आंतरिक जांच बिठाई। यह जांच करीब 10 दिन तक चली जिसमे मारवाह को जासूसी में संलिप्त पाया गया। इसके बाद दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से मारवाह की शिकायत की गई। पटनायक ने मामले की गंभीरता को देखते हुए स्पेशल सेल को इसकी जांच सौंप दी। स्पेशल सेल ने गुरुवार सुबह मुकदमा दर्ज कर मारवाह को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही दोपहर बाद पटियाला हाउस कोर्ट स्थित मुख्य महानगर दंडाधिकारी दीपक सहरावत की अदालत में पेश कर उन्हें पांच दिन की रिमांड पर ले लिया है। स्पेशल सेल ने आरोपी का मोबाइल जब्त कर लिया है। स्पेशल सेल उनसे पूछताछ कर लड़की बनकर भेंट करने वाले आइएसआइ एजेंट व कौन-कौन से गोपनीय दस्तावेज उसे मुहैया कराए गए हैं, इस बारे में पता लगा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *