दर्दनाकः दिवाली की खुशियों में छाया मातम ,एक साल के मासूम के सिर से उठा मां का आंचल

Karant sprayed the mother's spine from the head of a year's innocent

प्रदेश में दर्दनाक घटना सामने आयी है। अल्मोड़ा में करंट की वजह से एक परिवार की खुशियां छीन गई , एक मासूम बच्चे के सिर से माँ का साया छीन गया, जिसने अभी तक सही से बोलना भी न सीखा था। बता दे की कपड़े धोकर छत पर सुखाने गई विवाहिता 11 हजार वोल्ट की हाइटेंशन लाइन की चपेट में आ गई। करंट लगने से महिला छिटक कर छत की रेलिंग से जा टकराई। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

दरअसल, केपीएस विद्यालय में चौकीदार के पद पर कार्यरत भाष्कर बिष्ट निवासी देवलीखेत गांव के बिशोना तोक (ताड़ीखेत ब्लॉक) की पत्नी गीता बिष्ट (23 वर्ष) विद्यालय परिसर में ही बने आवास के तीसरे माले की छत पर कपड़े सुखाने गई थी। उसने छत की रेलिंग पर चादर सुखाने के लिए डाली। तभी चादर छत से कुछ नीचे गुजर रही हाइटेंशन लाइन की चपेट में आ गर्इ, जिससे महिला को जोरदार झटका लगा। इससे उसकी मौत हो गई। गीता का एक वर्ष का बेटा भी है। बताया जा रहा है की विवाहिता गीता की नावली गांव निवासी बुआ भागुली देवी त्योहार पर मिलने के लिए यहां आई थी। हादसे के दौरान वह रसोई में रोटी बना रही थीं। टिनशेड पर कोई भारी चीज गिरने की आवाज आई तो वह घबरा कर बाहर की ओर दौड़ी। वहां मंजर देख उसकी चीख निकल पड़ी। गीता बेसुध पड़ी। पति भास्कर ने पड़ोसियों की मदद से उसे हिलाया डुलाया पर वह दम तोड़ चुकी थी।

मृतका के परिजनशव के पोस्टमार्टम को दर दर भटकते रहे। उपमंडल के सबसे बड़े नागरिक चिकित्सालय में चिकित्सक न मिलने से ग्रामीण परेशान रहे। ऐसे में परिजन शव लेकर घंटे भर तक शवविच्छेदन गृह के बाहर डॉक्टर के इंतजार में बैठे रहे। वहीं, अधिशासी अभियंता प्रमोद कुमार ने कहा कि हाइटेंशन लाइन कितनी नीचे थी, इसकी गहनता से जांच कराई जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि मृतक महिला के परिजनों को मुआवजा दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *