केदारनाथ फिल्म निर्माता ने शूटिंग के लिए पसीना बहाने वाले युवाओं को दिया धोखा

Kedarnath film producer cheated youth for sweating for shooting

केदारनाथ आपदा पर बन रही फिल्म के लिए प्रदेश के युवाओं ने तन मन से मेहनत की लेकिन फिल्म निर्माता उन्हें धोखा दे कर बिना मेहनताना दिए चले गए। केदारघाटी के 35 से अधिक युवाओं को अब तक उनकी मेहनत का मोल नहीं मिल पाया है। फिल्म निर्माता शूटिंग पूरी कर यूनिट के साथ मुंबई लौट गए हैं और पीड़ित युवा अपनी मजदूरी दिलवाने के लिए डीएम दफ्तर के चक्कर काटने के लिए मजबूर हो रहे हैं।
पीड़ित गांव के सुधीर गैरोला ने बताया कि शूटिंग के दौरान उसने व गांव के कई लोगों ने मजदूरी की, लेकिन उसका भुगतान आज तक नहीं मिला। उन्होंने बताया की इस संबंध में जिलाधिकारी को अवगत करा दिया गया है।
यह भी पढ़े :उत्तराखंड महिला मंच की स्थाई राजधानी के लिए सरकार को चेतवानी
ग्रामीणों ने मंगलवार को एक शिकायती पत्र भी जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल को सौंपा है। जिसमें उन्होंने लिखा है की उन्हें अब प्रशासन से ही एकमात्र उम्मीद बची है। वहीं, डीएम मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि ग्रामीणों की शिकायत पर जो भी संभव कार्रवाई होगी वह की जाएगी।

दरअसल जून 2013 की केदारनाथ आपदा पर केंद्रित फिल्म ‘केदारनाथ’ की शूटिंग तकरीबन सवा माह केदारघाटी के त्रियुगीनारायण गांव के अलावा सोनप्रयाग, गौरीकुंड, केदारनाथ धाम, चोपता आदि स्थानों पर की गई थी। इस दौरान फिल्म निर्माता के आश्वासन पर स्थानीय युवा फिल्म यूनिट के रहने-ठहरने समेत अन्य व्यवस्थाएं जुटाने में मशगूल रहे। उन्होंने निर्माता का पूर्ण सहयोग किया परन्तु इसके बाद भी फिल्म निर्माता उनके मेहनताने का भुगतान किए बगैर शूटिंग कर वापस लौट गए। त्रियुगीनारायण के राजेश भट्ट ने बताया कि उसके निर्माता की तरफ 35 हजार रुपये बकाया हैं। निर्माता ने यह पैसा उसके खाते में डालने की बात कही थी, लेकिन दो माह से अधिक का समय बीतने के बाद भी पैसा उसके खाते में नहीं आया है। अब इसकी शिकायत उसने जिलाधिकारी से की है, जिस पर जिलाधिकारी ने आवश्यक कार्रवाई का भरोसा दिलाया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *