नॉर्थ कोरिया : मिसाइल की जद में अमेरिका ,सफल परीक्षण

north korea

सियोल: नॉर्थ कोरिया लगातार अमेरिका पर दबाव बनाने की कोशिशों में लगा है।नॉर्थ कोरिया एक के बाद एक बड़े कदम उठाये जा रहा है। दोनों देश एक दूसरे के खिलाफ है जहां एक और अमेरिका ने उत्तर कोरिया को आतंकी देश घोषित किया है। वही उत्तर कोरिया ने भी एक और इंटर-कॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण कर दावा किया है की अमेरिका उसकी मिसाइल की जद में है।

उत्तर कोरिया के सेना की ओर से दागी गई यह मिसाइल ने जापानी सागर में गिरने से पहले लगभग 1,000 किलोमीटर का सफर तय किया। अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने शुरुआती आकलनों के आधार पर इसे इंटर-कॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) बताया है। उत्तर कोरिया के पेंटागन ने बताया कि विशेषज्ञों ने यह अनुमान लगाया है कि अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन अब तकनीकी रूप से किम जोंग उन की पहुंच के भीतर है।
यह भी पढ़े :डोनाल्ड ट्रंप ने किया नॉर्थ कोरिया को आतंक प्रायोजित देश घोषित

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मीडिया को बताया है की “यह एक ऐसी घटना है, जिसे हम संभाल लेंगे। अमेरिका इसे संभाल लेगा.” व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव साराह सैंडर्स ने ट्वीट कर कहा कि जब मिसाइल हवा में ही थी तभी राष्ट्रपति को इस बात की जानकारी दे दी गई थी।

वहीं अमेरिका के रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने आशंका जताई है कि उत्तर कोरिया संभवत: ऐसी मिसाइलें विकसित कर रहा है जो ‘‘दुनिया में कहीं भी’’ मार करने में सक्षम होंगी। जेम्स मैट्टिस ने बताया कि दक्षिण कोरिया ने प्रतिक्रियास्वरूप आसपास में मिसाइल दागी ताकि उत्तर कोरिया समझ सके उसकी इस हरकत को आलोचनापूर्ण ढंग से लिया गया है। दक्षिण कोरिया ने ही सबसे पहले इस मिसाइल के परीक्षण की सूचना दी थी।
नॉर्थ कोरिया ने कहा है कि उसने वासोंग-15 मिसाइल का परीक्षण किया है। यह बिलकुल नए तरह की मिसाइल है। मिसाइल टेस्ट के बाद तानाशाह किम जोंग उन ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि उनके देश ने इसके साथ ही फुल न्यूक्लियर स्टेटहुड हासिल कर लिया है। नई मिसाइल के साथ वो अमेरिका के किसी भी हिस्से को निशाना बना सकते हैं।किम जोंग उन ने कहा कि ‘अंततः हमने महान परमाणु शक्ति का स्तर पा लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *