देशव्यापी हड़ताल पर पेट्रोल कम्पनियो ने दी पेट्रोल पंप डीलरों को चेतावनी ,पढ़े पूरी खबर। ..

petrol

12 अक्टूबर को पेट्रोल पंप डीलरों द्वारा हड़ताल का आयोजन करने का आह्वान करने के बाद तेल कंपनियों ने भी सख्ती अपना ली है। कंपनियों ने डीलरों से कहा है कि अगर उन्होंने इस हड़ताल में भाग लिया तो कंपनी उनका डीलरशिप कांट्रैक्ट कर देगी रद्द ।
इंडियन ऑयल के चेयरमैन संजीव सिंह ने कहा कि बेमानी है हड़ताल पर जाना। मार्केटिंग के लिए जो गाइडलाइंस बनाई गई हैं उसके मुताबिक वो क्वालिटी में किसी प्रकार का कोई समझौता नहीं कर सकते हैं।
54 हजार डीलर हैं देश भर में
फ्रंट ने चेतावनी दी है कि अगर जल्द से जल्द उनकी मांगें नहीं मानी गईं तो ईंधन विक्रेता 27 अक्तूबर से अनिश्चितकाल के लिए पेट्रोलियम उत्पाद की खरीद व बिक्री बंद कर देंगे। यूपीएफ 54,000 डीलरों का प्रतिनिधित्व करता है। इसमें ऑल इंडिया पेट्रोलियम ट्रेडर्स, द ऑल इंडिया पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन और कंसोर्टियम ऑफ इंडियन पेट्रोलियम डीलर जैसे बड़े संगठन शामिल हैं।
यह भी पढ़े :उत्तराखंड में नहीं मिलेगा पेट्रोल-डीजल ,जानने के लिए पढ़े पूरी खबर

फ्रंट की मांग है कि चार नवंबर, 2016 को तेल मार्केटिंग कंपनियों के साथ किए गए करार को लागू किया जाए। यह फैसला काफी समय से लंबित है। अन्य मांगों में डीलर मार्जिन की हर छह माह में समीक्षा, निवेश पर रिटर्न के लिए बेहतर नियम, कर्मचारियों के मुद्दों का समाधान, नुकसान से निपटने के लिए नए अध्ययन और एथेनॉल मिलाने व ट्रांसपोर्टेशन से संबंधित मुद्दे शामिल हैं।

पेट्रोलियम उत्पादों के 54,000 डीलर 13 अक्तूबर को देशव्यापी हड़ताल पर रहेंगे। यूनाइटेड पेट्रोलियम फ्रंट (यूपीएफ) ने बेहतर लाभ (मार्जिन) समेत विभिन्न मांगों और पेट्रोलियम पदार्थों को भी जीएसटी के दायरे में लाए जाने के लिए इस हड़ताल का एलान किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *