राष्ट्रीय खेल के आयोजन को धन नहीं दे रहा केन्द्रः अग्रवाल

-खेल मंत्री दिनेश अग्रवाल ने दिल्ली में आयोजित खेल मंत्रियों के सम्मेलन में रखी अपनी मांग

0
33

देहरादूनः दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में आयोजित राज्यों के युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रियों एवं सचिवों के सम्मेलन में शिरकत करते हुए प्रदेश के खेल मंत्री दिनेश अग्रवाल ने कहा कि वर्ष 2018 में उत्तराखण्ड में 38वें राष्ट्रीय खेलों का आयोजन किया जाना है, जिस हेतु राज्य सरकार द्वारा अपने सीमित संसाधनों से खेल अवस्थापना सुविधाओं को विकसित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस हेतु केन्द्र सरकार से वित्तीय सहायता प्रदान किये जाने का कई बार अनुरोध किया जा चुका है किन्तु अभी तक केन्द्र सरकार द्वारा इस सम्बन्ध में कोई कार्यवाही नहीं की गई है।

खेल मंत्री अग्रवाल ने बताया कि उक्त खेलों के आयोजन हेतु नई खेल संरचनाओं के निर्माण, उपलब्ध अवस्थापना सुविधाओं के उच्चीकरण आदि हेतु रू0 719.44 करोड़़, खेलों के आयोजन के दौरान विभिन्न कार्यों के क्रियान्वयन हेतु रू0 249.97 करोड़ की धनराशि का प्रस्ताव केन्द्र सरकार को उपलब्ध कराया गया है। उन्होंनें केन्द्र सरकार से इस आयोजन हेतु तत्काल वित्तीय सहायता प्रदान किये जाने का अनुरोध किया है।

श्री अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश के खिलाड़ियों के हित मे ंखेल नीति-2014 का प्रख्यापन किया गया है तथा प्रदेश के खिलाड़ियों को आउट आॅफ टर्न पदोन्नति एवं नियुक्ति प्रदान किये जाने तथा सभी प्रकार की भर्तियों में वेटेज की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा की खिलाड़ियों को पदक जीतने के उपरान्त नकद पुरस्कार स्वरुप मिलने वाली धनराशि एवं श्रेणियों में भारी बढ़ोत्तरी की गई है तथा गत दो वर्षाें में 05 करोड़ रुपये की धनराशि खिलाड़ियों को प्रोत्साहन स्वरुप उपलब्ध कराई गई है।    खेल मंत्री ने बताया कि भूतपूर्व खिलाड़ियों हेतु आर्थिक सहायता एवं पेंशन की व्यवस्था भी प्रारम्भ की गई है।  उन्होंने कहा कि प्रदेश में देवभूमि उत्तराखण्ड खेल रत्न, देवभूमि उत्तराखण्ड द्रोणाचार्य, लाईफटाइम एचीवमेंन्ट अवार्ड एवं राज्य खेल पुरस्कारों का प्रारम्भ किया गया है। उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र के सहयोग से खेल अवस्थापना सुविधाओं के विकास हेतु नियमावली का प्रख्यापन किया गया है। निजी क्षेत्र को खेल अवस्थापना सुविधाऐं विकसित करने के लिए 50 लाख रुपये की धनराशि अनुदान स्वरुप दिये जाने की व्यवस्था भी की गई है। उन्होंने कहा कि 38वें राष्ट्रीय खेलों के आयोजन हेतु जनपद पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, नैनीताल (हल्द्वानी), हरिद्वार व देहरादून में विभिन्न अवस्थापना सुविधाओं के सृजन हेतु रू0 1080.71 लाख रुपये की स्वीकृति प्रदान की गई है।  अग्रवाल ने कहा कि रियो-डी-जेनेरियो में आयोजित ओलम्पिक खेल-2016 में उत्तराखण्ड राज्य का प्रतिनिधित्व करने पर उत्तराखण्ड राज्य के खिलाड़ियों को 5 लाख रुपये की धनराशि प्रदान किये जाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि विकलांग एवं वेटरन खिलाड़ियों को भी अन्य खिलाड़ियों की भांति राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में पदक जीतने पर नगद पुरस्कार से सम्मानित किये जाने का निर्णय लिया गया है। कार्यक्रम की अध्यक्षता केन्द्रीय राज्य खेल एवं युवा कार्यक्रम मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री विजय गोयल ने की तथा इस अवसर पर विभिन्न राज्यों के युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री तथा सचिव उपस्थित रहे।

उत्तर छोड़ दें: