राज्य आंदोलनकारी आरक्षण मामले में 20 फरवरी को हाईकोर्ट में सुनवाई

0
35
Concept

नैनीताल – राज्य आंदोलनकारियों को आरक्षण के मामले पर सुनवाई करते हुये हाईकोर्ट की खंडपीठ ने अहम आदेश दिया है, कोर्ट ने लम्बित चल रहे यूपीएससी परिणाम दस फीसदी सीटों को छोड़कर घोषित करने का आदेश दिया है, इस मामले की अगली सुनवाई 20 फरवरी को होगी।

राज्य आंदोलनकारियों को आरक्षण से जुड़ी जनहित याचिका-

राज्य आंदोलनकारियों को आरक्षण से जुड़ी जनहित याचिका पर आज जस्टिस सुधांशू धूलिया और जस्टिस यूसी ध्यानी की खंडपीठ मे सुनवाई हुई, खंडपीठ ने मामले से जुड़े तमाम पहलुओं पर सुनवाई के बाद 2012 से रुके यूपीएससी के परिणाम घोषित करने का आदेश दिया, हालांकि कोर्ट ने ये शर्त भी रखी है कि आयोग इन परिणामों में दस फीसदी सीटें कोर्ट का अंतिम फैसला आने तक घोषित नहीं करेगा।

आरक्षण के मामले में हाईकोर्ट का आदेश अहम-

राज्य आंदोलनकारियों की ओर से पैरवी करने वाले अधिवक्ता रमन साह ने इस बात की पुष्टि करते हुये कहा कि राज्य आंदोलनकारियों को आरक्षण के मामले में हाईकोर्ट का ये आदेश अहम है।

नैनीताल हाईकोर्ट से न्याय की उम्मीद जगी-

पहले भी कोर्ट ने इंदिरा साहनी केस का हवाला देते हुये कहा था कि राज्य सरकार चाहे तो आरक्षण दे सकती है, अब एक बार फिर राज्य आंदोलनकारियों को आरक्षण के मामले में नैनीताल हाईकोर्ट से न्याय की उम्मीद जगी है।

उत्तर छोड़ दें: