हरिद्वार :नौकर के प्यार में पागल हुई बेटी ने उठाया खौफनाक कदम , प्रेमी से कराई पिता की हत्या

The crazy daughter raised in the love of the servant raised the horrific step

हरिद्वार :नौकर के प्यार में पागल हुई बेटी ने उठाया खौफनाक कदम , प्रेमी से कराई पिता की हत्या और सुनती रही पिता की चीखे

हरिद्वार में एक खौफनाक घटना का खुलासा हुआ है यहां एक बेटी ने नौकर के प्यार में ऐसा कदम उठाया की सबका दिल दहल गया। पिता ने शादीशुदा प्रेमी से बेटी की शादी करने को मना किया तो बेटी ने प्रेमी संग रच दी पिता की हत्या की साजिश। इतना ही नहीं प्रेमी से कहा की तुम गोली चलना और मैं फ़ोन पर आवाज़ सुनोगी। घटना का खुलासा हरिद्वार पुलिस ने किया है। यहां २८ फरवरी को प्रमोद की हत्या की गई थी। पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए पूरी कहानी बताई है और आरोपी बेटी और शादीशुदा प्रेमी को गिरफ्तार भी कर लिया है।

घटना हरिद्वार के शिव शक्ति स्टोन क्रशर के पास की है। यहां २८ फरवरी की सुबह किसान प्रमोद कुमार का खून से लथपथ शव बरामद हुआ था। मृतक के भाई पवन कुमार ने भाई के नौकर राम किशोर पर संदेह जताते हुए नामजद मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने शव को कब्ज़े लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। जिसके बाद रिपेार्ट में मौत का कारण सिर की हड्डियां टूटना सामने आया था। घटना के बाद से पुलिस मामले की जांच में जुटी थी। पुलिस ने नामजद नौकर को हिरासत में लेकर मामले की पूछताछ की तो वह बार-बार अपने बयान बदलता रहा। सख्ती से पूछताछ करने पर पता चला कि नौकर रामकिशोर का मृतक की मझली बेटी वंदना उर्फ लाडो से प्रेम संबंध थे। उससे शादी करने के लिए ही वंदना के कहने पर उसने प्रमोद की हत्या की थी।

थानाध्यक्ष दीपक कठैत ने बताया कि नौकर को उसकी नेपाली मूल की पत्नी छोड़कर जा चुकी थी। उसके दो बच्चे भी हैं। रामकिशोर प्रमोद की मझली बेटी से शादी करना चाहता था, लेकिन प्रमोद ने बेटी से उसकी शादी करने से इनकार कर दिया था। तब प्रेमी जोड़े ने प्रमोद की हत्या की साजिश रची। घटना के दिन खेत में बनी झोपड़ी में शराब पीकर सो रहे प्रमोद पर पहले नौकर ने तमंचे से फायर किया था, लेकिन वह बच गया। तब रामकिशोर ने फावड़े के डंडे से सिर पर वार कर उसकी हत्या कर दी थी।पुलिस ने हत्याकांड में प्रयुक्त तमंचा, फावड़े का हत्था, दो मोबाइल फोन और आरोपी कीखून से सनी जींस बरामद कर ली है। बताया जा रहा है कि किसान के सात बच्चे हैं, जिनमें से वंदना दूसरे नंबर की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *