उत्तराखंड पुलिस के जवान ने लगाई टावर से छलांग ,मौत ,पुलिस ने किया आत्महत्या मानने से इंकार

Uttarakhand police jawan leaped from tower, death on the spot

उत्तराखंड पुलिस के जवान ने एक ऐसा कदम उठाया जो कोई सोच भी नहीं सकता था। घर से बुआ के घर कहके निकले जवान ने टावर से छलांग लगा ली जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जवान के इस कदम से घर में मातम का माहौल है। क्षेत्र में भी शोक की लहर है।पुलिस घटना को आत्महत्या मानने से बच रही है। अभी इस मामले में जांच की जा रही है।

दरअसल उधमसिंह नगर जिले के किच्छा स्थित सीओ कार्यालय में तैनात सिपाही कैलाश पंगरिया (38 वर्ष) ने बीएसएनएल टावर से छलांग लगा दी। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। कैलाश यहां छोटी रामड़ी फतेहपुर (हल्द्वानी) में अपनी बुआ के घर रविवार को ही आया था। बीते दिन करीब 9 बजे वह अपने घर पिथौरागढ़ जाने के लिए निकला था। करीब 10 बजे लामाचौड़ के पास ही बीएसएनएल टावर के नीचे हरीश का शव मिला। जिससे इलाके में सनसनी मच गई।

कैलाश 2002 में पुलिस में भर्ती हुआ था। वह अपने बैच का टॉपर रहा था। कैलाश का एक भाई दीपक पंगरिया किच्छा कोतवाली में और दूसरा पंकज पिथौरागढ़ में तैनात है। जबकि तीसरा भाई बंटी पिथौरागढ़ में ही पिता माधवानंद के साथ केमू स्टेशन स्थित अपनी दुकान में हाथ बंटाता है। कैलाश की पत्नी पुष्पा, बेटा सार्थक और बेटी कनिष्का भी वहीं रहते हैं। 2002 बैच का सिपाही कैलाश रविवार को पांच दिन की छुट्टी लेकर किच्छा से हल्द्वानी के लिए निकला था। यहां फतेहपुर में अपनी बुआ जानकी के यहां रुकने के बाद कैलाश आज पिथौरागढ़ जाने की बात कहकर निकला था। बताया जा रहा है कि कैलाश मानसिक रूप से कुछ परेशान चल रहा था। घर से निकलने के करीब पौन घंटे बाद बुआ व परिजनों को सूचना मिली कि समीप ही बीएसएनल टावर से कैलाश ने छलांग लगा दी है।

यह भी पढ़े:हल्द्वानी में बिहारी बोलने पर युवको ने की बुजुर्ग की हत्या, परिजनों पर भी वार ,5 आरोपी गिरफ्तार

परिजनों के पहुंचने तक कैलाश ने दम तोड़ दिया था। बाद में पुलिस बॉडी को पोस्टमार्टम हाउस ले आई। सीओ हल्द्वानी डीसी ढोडियाल, सीओ किच्छा हिमांशु साह, कोतवाल केआर पांडेय भी पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे। पुलिस के अनुसार कैलाश की जेब से भभूत की पुड़िया मिली। कुछ समय से वह मानसिक रूप से परेशान चल रहा था। पुलिस घटना को आत्महत्या मानने से बच रही है। अभी इस मामले में जांच की जा रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *