उत्तराखंड की यह तितली होगी भारत की सबसे बड़ी तितली , मिलेगी विशेष पहचान

Uttarakhand's butterfly will be India's biggest butterfl

उत्तराखंड़ भले ही देश और दुनिया में विशेष स्थान रखता है। लेकिन अब इसे एक नई पहचान मिलने वाली है। इस वर्ष जून में डीडीहाट में खोजी गई तितली ट्रौइडैस अयकुस को भारत की सबसे बड़ी तितली होने का गौरव हासिल हुआ है। भीमताल स्थित शोध संग्रहालय में बरसों से कीट पतंगों के शोध में जुटे पीटर स्मैटाचैक ने इस तितली को खोजा है।

बटर फ्लाई शोध संस्थान के अनुसार अब तक देश की सबसे बड़ी तितली का खिताब ट्रौइड्रेस मिनौस को था जो कि गोवा से केरल तक पाई जाती है। उस समय तितली की लंबाई 140 से 190 मिलीमीटर तक मापी गई थी। यह रिकॉर्ड ‘आयडेंटिफिकेशन आफ इंडियन बटरफ्लाई’ नामक पुस्तक से लिया गया था।हालांकि वर्तमान में तितली के अवशेष के बारे में कोई जानकारी नहीं है। इस बार जिस तितली की खोज हुई है वह शोध संस्थान में मौजूद है। यह तितली गोल्डन बर्ड विंग के नाम से भी जानी जाती है और अब तक भारत वर्ष की सबसे बड़ी तितली है। तितली की यह प्रजाति गढ़वाल से उत्तर पूर्व राज्य तथा ताइवान चीन आदि में भी पाई जाती है।बता दें कि भीमताल स्थित शोध संग्रहालय में बरसों से कीट पतंगों के शोध में जुटे पीटर स्मैटाचैक ने गुमनाम कीट पतंगों के बारे में काफी शोध किया और नए तथ्य सामने लाए।

यह भी पढ़ेंः बंजर होती जमीन, मजदूर बनते किसान

लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड में होगा नाम दर्ज

रिपोर्ट के मुताबिक जून में पिथौरागढ़ के डीडीहाट में पकड़ी गई गोल्डल विंग नामक तितली की लंबाई 194 मिलीमीटर है जो कि अब तक पाई गई तितली से चार मिली मीटर अधिक है। यह भारत की सबसे बड़ी तितली है। इससे पूर्व इसी तितली की लंबाई 170 मिली मीटर तक मापी गई थी। तितली संबधी सभी दस्तावेज लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड को भी भेजे जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि गोल्डन विंग तितली मई जून से अगस्त तक पाई जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *